आइये जानते हैं तेजपत्ता कैसे हैं सेहत के लिए फायदेमंद

तेजपत्ता का इस्तेमाल खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है । लेकिन यह सेहत के लिए भी फायदेमंद है । तेजपत्ता का इस्तेमाल खास करके भारत में खाने में स्वाद के रूप में इस्तेमाल किया जाता है । तेजपत्ता में कई बीमारियों से दूर रखता है ।

तेजपत्ता सुगंधित होता है और स्वाद को बढ़ाने का काम करता है । तेजपत्ता में कई सारे पोषक तत्वों और खनिज पाए जाते हैं । तेजपत्ता में विटामिन ए और विटामिन सी होती है ।

तेजपत्ता डायबिटीज समेत कई सारी बीमारियां में काफी फायदेमंद होता है । तेजपत्ता दिखने में यूकेलिप्टस की पत्तियों की तरह होता है ।

तेजपत्ता कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों में भी फायदेमंद है । तेजपत्ता में विटामिन ए विटामिन सी के अलावा फोलिक एसिड पाया जाता है ।

पेट संबंधी परेशानियों में तेजपत्ता काफी फायदेमंद होता है । इसका इस्तेमाल मसाले के रूप में खाने में किया जा सकता है । तेजपत्ता अवसाद से दूर रखता है ।

2016 में प्रकाशित जनरल ऑफ न्यूट्रिशन के एक शोध में बताया गया कि जो लोग टाइप 2 डाइबिटीज से ग्रस्त हैं वह तेजपत्ता खाएं । तेज पत्ता खाने से उनका ब्लड शुगर कम होगा और कोलेस्ट्रॉल में भी सुधार होगा ।

तेजपत्ता में कॉपर, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन पाया जाता है जोकि पेट से जुड़ी सभी बीमारियों लाभकारी होता है ।

तेजपत्ता का इस्तेमाल खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है । लेकिन यह सेहत के लिए भी फायदेमंद है ।
तेजपत्ता का इस्तेमाल खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है । लेकिन यह सेहत के लिए भी फायदेमंद है ।

कब्ज और एसिडिटी की समस्या में भी तेजपत्ता खाने से राहत मिलती है । पेट में मरोड़ होने और लंबे समय तक कब्ज बने रहने पर तेजपत्ता काफी राहत प्रदान करता है । यह औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है ।

नींद की समस्या होने पर भी तेजपत्ता का इस्तेमाल किया जा सकता है।  तेजपत्ते को पानी में मिला कर पिया जा सकता है । इससे किडनी और पेट की समस्या दूर होती है । तेजपत्ता मसूड़ों को मजबूत बनाता है क्योंकि तेजपत्ता में विटामिन सी पाई जाती है ।

तेजपत्ता दांत दर्द में भी लाभकारी होता है क्योंकि तेजपत्ता में एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व भरपूर मात्रा में होता है । तेजपत्ता किडनी की समस्या और कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी में भी फायदेमंद है ।

हालांकि एक रिसर्च में यह भी सामने आया है कि तेजपत्ता का अधिक सेवन नुकसानदेह हो सकता है क्योंकि इसमें कॉकस-2 नामक एंजाइम पाया जाता है जो शरीर में सूजन बढ़ा देती है । तेजपत्ते का इस्तेमाल नियंत्रित रूप से कर इसके लाभ लिए जा सकते है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *