14.6 C
Delhi
Friday, January 22, 2021

चीन मना रहा है कम्युनिस्ट शासन की 70 वीं सालगिरह

Must read

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आंखों की थकावट और सूजन को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

जब बहुत ज्यादा देर तक जब सोने के बाद सुबह सो कर उठे हैं तो अक्सर हमारी आंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर...

क्या जापान जानता है Subhash Chandra Bose के गायब होने का पूरा सच!

आजादी के महानायक नेता Subhash Chandra Bose के गायब होने का सच जापान को पता है, ऐसा कहना है नेताजी के परपौत्र चंद्र कुमार...

चीन में 1 सितंबर को साम्यवादी शासन की 70वीं सालगिरह मनाई जा रही है और इस अवसर पर चीनी प्रशासन द्वारा भव्य परेड निकाली गई । इस परेड में चीन ने अपने अत्याधुनिक हथियारों का प्रदर्शन किया जिसमें परमाणु और हाइपरसोनिक मिसाइल भी शामिल है । हालांकि इस सालगिरह की अधिकारी शुरुआत 30 सितंबर से ही हो गई थी । चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के संस्थापक माओ ज़ेडोंग को श्रद्धांजलि दे कर इसकी सुरुआत 30 सितम्बर को ही कर दी । मालूम हो की चीन में  माओ ज़ेडोंग के पार्थिव शारीर हो संरक्षित रखा गया है । सामान्यतया चीन अपने हथियारों को दुनिया की नजर से बचा कर रखता है ।

लेकिन कम्युनिस्ट शासन की इस वर्षगांठ पर चीन ने अपने सभी हथियारों का प्रदर्शन किया है । एक तरफ जहां चीन में देशभक्ति का माहौल बना हुआ है वहीं हांगकांग में अभी भी विरोध प्रदर्शन हो रहा है । चीन ने पिछले 70 वर्षों में एक गरीब देश से दुनिया की सबसे बड़ी दूसरी अर्थव्यवस्था बनकर उभर रहा है और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी अपनी अहमियत और प्रभुत्व को साबित करने में सफल रहा है । लेकिन यह भी सच है कि दुनिया भर के सभी देश यह मानते हैं कि चीन के अंदर मानवाधिकार का उल्लंघन भी सबसे ज्यादा होता है । जहां एक तरफ चीन ने तेजी से तरक्की की है तो दूसरी तरफ मानवाधिकार के उल्लंघन के मामले में भी चीन सबसे आगे रहा है ।

मानवाधिकार उल्लंघन के मामले को लेकर अक्सर ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चीन की आलोचना होती रहती है और यही वजह है कि कम्युनिस्ट शासन के सालगिरह के जश्न में लाखों लोग ऐसे भी हैं जो इस जश्न में शामिल नहीं हुए हैं। इसी का एक हिस्सा उइगर मुसलमान है जिन्हें चीन द्वारा अक्सर ही प्रताड़ित किया जाता रहता है । चीन हमेशा ही अपनी सरकार के खिलाफ उठने वाली आवाज को दबा देता है । चीन एक तरफ अपने यहां विकास को बढ़ावा तो दे रहा है लेकिन विकास के लिए मानवाधिकार का भी बहुत ज्यादा उल्लंघन करता है । चीन सरकार द्वारा आयोजित परेड के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि ‘दुनिया की कोई भी ताकत चीन की छवि को नहीं हासिल कर सकती और कोई भी ताकत चीन को आगे बढ़ने से नही रोक सकता है ।

हजारों वर्षों तक चीन को अपनी गिरफ्त में रखने वाली सबसे बड़ी समस्या गरीबी है और यह खत्म होने की कगार पर है । चीन अपने यहाँ जबरदस्त बदलाव किया है और लगातार समृद्ध हो रहा है और मजबूत बन रहा है । उन्होंने आगे कहा है कि सभी जोखिम और चुनौतियों से निकलते हुए आगे बढ़ने तथा नई सफलता हासिल करने के लिए एकता सबसे महत्वपूर्ण होता है । हमें शांति पूर्वक और सहयोग को ध्यान में रखते हुए शांतिपूर्वक विकास की राह पर आगे बढ़ना है ।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आंखों की थकावट और सूजन को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

जब बहुत ज्यादा देर तक जब सोने के बाद सुबह सो कर उठे हैं तो अक्सर हमारी आंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर...

क्या जापान जानता है Subhash Chandra Bose के गायब होने का पूरा सच!

आजादी के महानायक नेता Subhash Chandra Bose के गायब होने का सच जापान को पता है, ऐसा कहना है नेताजी के परपौत्र चंद्र कुमार...

क्यों होता है पेट का कैंसर ( Colon Cancer ) ? क्या है इसके शुरुआती लक्षण

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जो हमारे शरीर कि किसी भी हिस्से मे कभी भी हो सकती है। ज्यादातर हम लोग गले का कैंसर,...