जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद एकीकरण से कई क्षेत्रों में होंगे सकारात्मक बदलाव

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटाये जाने के बाद जम्मू कश्मीर का भारत मे पूर्ण एकीकरण हो गया है अब जम्मू कश्मीर में कई सारे सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेगा जम्मू कश्मीर में आर्थिक एकीकरण से लाखों लोगों को गरीबी के जाल से बाहर निकलने में मदद मिलेगी और वहाँ के लोगो का जीवन बेहतर होगा और साथ ही लोगो को बहुत सारे बेहतर मौके भी मिलेंगे यहाँ तक कि गुलाम कश्मीर में भी सकारात्मक बदलाव होने की उम्मीद है

गुलाम कश्मीर नेपाल के बराबर है और यहाँ करीब पचास लाख लोग रहते हैं लेकिन इस क्षेत्र पर पाकिस्तान का अवैध कब्जा है पाकिस्तान की भेदभाव वाली नीति का परिणाम है कि यहाँ के लोगो को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं है और यहाँ के लोगो का जीवन बद से बदतर है जम्मू कश्मीर का विकास होने से विकास का असर गुलाम कश्मीर पर भी पड़ेगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अब अगला कदम गुलाम कश्मीर के मुद्दे को सुलझाना है

दरअसल जम्मू कश्मीर के अवैध कब्जे वाले इस गुलाम कश्मीर में अर्थव्यवस्था को रफ्तार न मिलने से वहां का सामाजिक और आर्थिक विकास रुक हुआ है और विकास के संकेतक नीचे की ओर जा रहे है गुलाम कश्मीर की तुलना में जम्मू कश्मीर के लोग खुश है राज्य का मानव विकास सूचकांक, स्वास्थ्य, शिक्षा और आय सूचकांक बेहतर है तो ऐसे में आर्थिक एकीकरण हो जाने के ये और भी बेहतर हो जाएगा बस जरूरत गुलाम कश्मीर में जीवन को बेहतर और न्यायसंगत करना है यहाँ के लोग लगभग हर दिन विपरीत परिस्थितियों से लड़ते हैं ऐसे में यहाँ राजनैतिक आजादी के साथ साथ आर्थिक आजादी आवश्यक है अक्सर होने वाली हिंसा का असर अर्थव्यवस्था पर पड़ता है और इस वजह से वहां के लोग गरीब होते जा रहे

गरीबी के कारण ही आंतरिक अशान्ति होती है और लोगो का लोकतंत्र से विश्वास हटने लगता है शांति और विकास में सीधा सम्बंध होता है , हिंसा विकास हो प्रभावित करता है गुलाम कश्मीर जो कि पिओके के नाम से भी जाना जाता है यहाँ बेहतर नेतृत्व और मानवता में निवेश करने की जरुरत है भारत के पास अब एक मौका है कि सुरक्षा के साथ साथ यहाँ सीधे या परोक्ष रूप से सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए प्रयास करे

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *