युवा दिवस पर जानते है कुछ युवाओ के महान विचारों के बारे में

युवा दिवस पर जानते है कुछ युवाओ के महान विचारों के बारे में

भारत भर में 12 जनवरी को युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है । क्योंकि 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद का जन्मदिन होता है और स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन को युवा दिवस के रूप में भारत में मनाया जाता है ।अक्सर देखा जाता है कि बहुत से लोग अथक प्रयास के बाद भी सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं और यह सोचने को मजबूर होते हैं कि सफलता उनके भाग्य में नहीं है । लेकिन दुनिया में ऐसी कई शख्स है जो कम उम्र में ही सफलता प्राप्त कर लिए । आइए जानते हैं कुछ लोगों की कहानी और उनके विचार के बारे में जो हर किसी को प्रेरित कर सकती है ।

आज यहाँ पर हम बात करने जा रहे हैं कुछ युवा कारोबारियों के बारे में जिनसे प्रेरणा लेकर

आप भी कामयाब हो सकते हैं :—–

1. इसमें पहला नाम है रितेश अग्रवाल  का । रितेश अग्रवाल OYO के सीईओ हैं । रितेश अग्रवाल का जन्म 16 नवंबर 1993 को उड़ीसा के कटक में एक मारवाड़ी परिवार में हुआ था । रितेश की प्रारंभिक शिक्षा प्राइवेट स्कूल से पूरी करने के बाद इंडियन स्कूल आफ बिजनेस में एडमिशन लिए । बिजनेस शुरू करने के लिए अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी क्योंकि वह मार्क और स्टीव जॉब्स की तरह कुछ बेहतर करना चाहते थे । कम उम्र में उठाए गए रितेश के अग्रवाल के कदम ने उन्हें काफी सफलता दिलाई ।

साल 2012 में रितेश ने 18 वर्ष की उम्र में अपना स्टार्टअप OREVAL STAYS की शुरुआत की । इस कंपनी का लक्ष्य यात्रियों को थोड़े समय के लिए किफायती दामों पर कमरा उपलब्ध कराना था जिसे ऑनलाइन बुक किया जा सकता था । घाटे के चलते रितेश ने 2013 में अपनी कंपनी OREVAl को OYO रूम्स के नाम से दोबारा लांच किया । रितेश का कहना है कि “आपका ब्रांड आप की संस्कृति, उद्देश्य और पहचान को दर्शाता है” ।

2. अगला नाम आता है निकेश अरोरा  का। निकेश अरोरा पालो आल्टो नेटवर्क के सीईओ है । सॉफ्ट बैक के सीईओ के रूप में कार्य करने वाले गाजियाबाद के निकेश अरोड़ा सिलिकॉन वैली स्थित साइबर सुरक्षा की दिक्कत कंपनी आल्टो नेटवर्क है । निकेश का वेतन 858 करोड़ सालाना है । निकेश ने दिल्ली में एयर फोर्स के स्कूल से पढ़ाई की थी और उसके बाद भी आईआईटी बीएचयू से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया । इसके बाद विप्रो में नौकरी करने के बाद कुछ दिन में उसे छोड़ दिया और आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चली जाए ।

जहां पर उन्होंने एमबीए की डिग्री हासिल की फिर फाइनेंसल प्रोग्राम की पढ़ाई की । निकेश  2004-07 तक गूगल के यूरोप ऑपरेशन के हेड थे और 2011 में गूगल के चीफ बिजिनेस ऑफिसर बन गए । 2014 में निकेश गूगल छोड़ के सॉफ्ट बैंक कॉर्पोरेशन ज्वाइन कर लिया । निकेश का कहना है “मैं केवल उन संस्थापकों मर निवेश करना चाहता हूं जो मेरे दोस्त बनने के इक्छुक है और बड़ी कम्पनी का निर्माण करना चाहते हैं” ।

3. अगला नाम है एलेन मास्क  का ।एलेन मस्क टेस्ला के सीईओ है । दुनिया की सबसे बड़ी अमीरों की सूची में एलन मस्क का नाम आता है । एलन मस्क विश्व की इलेक्ट्रॉनिक वाहन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी टेस्ला किस दिन है और अंतरिक्ष के क्षेत्र में काम करने वाली स्पेसएक्स के फाउंडर है ।

एलन मस्क के पास अमेरिका कनाडा और साउथ अफ्रीका 3 देश की नागरिकता है । एलन मस्क के पास अपना निजी विमान भी है और उससे वे अक्सर अपने बच्चों के साथ वीकेंड पर आईलैंड में छुट्टियां मनाने जाते हैं । 30 साल की उम्र में ही उसके पास 300 मिलियन डॉलर की संपत्ति थी । एलन मस्क का कहना है “ मुझे लगता है साधारण लोगो के लिए असाधारण होने का चयन करना संभव है ।

“आप भी इन लोगों से प्रेरणा लेकर जिंदगी में आगे बढ़ सकते हैं

और कामयाबी के शिखर को छू सकते है ।”

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *