इंटरव्यू के दौरान ध्यान रखेंगे ये कुछ खास बातें तो आसान हो जायेगा जॉब पाना, जानें ये खास बातें क्या हैं

आज के समय में में नौकरी मिलना या न मिलना दोनों ही एक पर्सनॅलिटी परीक्षा पर निर्भर करता है,और वो है इंटरव्यू। इसमें न सिर्फ सवाल पूछे जातें है बल्कि पुरे समय में आपके हाव भावबात करने का तरीका,व्यवहार  सभी बातों पर गौर किया जाता है लेकिन इस परखने के दौरान कई बार हम ऐसी  गलतियां  कर बैठते  है जिससे हमें रिजेक्शन झेलना पड़ सकता है और हम उन गलतियों से भविष्य में भी अनजान ही बने रह जाते हैं। लेकिन कुछ बातें हैं जिनका  ध्यान रख के इस स्थिति से बचा जा सकता है और जॉब मिलना आसान हो जाता है वो  कुछ खास बातें हैं ये

इंटरव्यू  के दौरान सबसे जरुरी  बात है वो है आपका कॉन्फिडेंस लेवल और निर्णय लेने की क्षमता,जिसका परिक्षण किया जाता है, लेकिन कई बार लोग ओवर कॉन्फिडेंट हो जाते हैं और खुद को सुपर दिखने की कोशिश में गलती  कर बैठते हैं। कोई भी कंपनी अपने  उमीदवार में कॉन्फिडेंस देखना चाहेगी लेकिन ओवर कॉन्फिडेंस कहीं भी स्वीकार्य नहीं है, इसलिए इंटरव्यू के समय इस बात का ध्यान रखें इंटरव्यूवर से फ्रैंक नहीं होना है।

इंटरव्यू के दौरान कई  बार परीक्षक कुछ हंसी मजाक या अन्य  बाते करके माहौल को हल्का  बनाने की कोशिश करता है, ये जरुरी भी है लेकिन एक बात याद रखें  कि अभी आपको सेलेक्ट किया नहीं गया है इसलिए  दोस्ताना व्यवहार करें लेकिन एक हद तक। इंटरव्यूवर   से बहुत ज्यादा फ्रैंक होने की कोशिश आपके लिए महंगी साबित हो सकती है।

इंटरव्यू के  दौरान कुछ सवालों के जवाब हो  सकता है सिर्फ हाँ या ना में देने हो  लेकिन इसका मतलब ये कतई नहीं है की आप सिर्फ सिर हिलाकर हाँ या ना में जवाब दे दें इससे नियोक्ता को लगेगा की आप उसकी बातों पर गौर नहीं कर रहे या इग्नोर कर रहे है। इसलिए जब भी ऐसा कुछ हो तो अपना रिस्पांस बोलके (जैसे हाँ ,नहीं या ठीक है सर )इस तरह से दें । आप अपनी बात भी  रख सकतें है लेकिन सामने वाले की बात पहले पूरी सुने बीच में न काटें । 

किसी जगह पर इंटरव्यू तब शुरू नहीं होता है जब आप कमरे में नियोक्ता के सामने बैठे होते हैं और सवाल जवाब किये जाते हैं। कई बार इंटरव्यू प्लेस  पर पहुँचते ही आपका परीक्षण शुरू हो जाता है इसलिए अपनी बॉडी  लैंग्वेज का हमेशा ध्यान रखें और वहाँ हो रही हर बात पर गौर करें। इंटरव्यूअर के सवाल खत्म होने के बाद भी जब तक आप उस जगह को नहीं छोड़तें हैं अपने व्यवहार का खास ध्यान रखें । 

इंटरव्यू के दौरान कई बार ऐसा होता है नियोक्ता को प्रभावित करने के लिए , हमसे जितना पूछा गया  है उतना बताने के बजाय हम अपने अतिरिक्त ज्ञान को भी उसमे शामिल करने की कोशिश में लगे रहते हैं। यह सामने वाले व्यक्ति पर आपका गलत इम्प्रैशन बना सकती है इसलिए अपनी कोई भी बात कम शब्दों में  कहें और अच्छे शब्दों के साथ कहें ।आपकी खूबियां कम और अच्छे शब्दों में भी नजर आ जाएगी अपने मुँह से बहुत ज्यादा गुणगान न करें

हर व्यक्ति को अपने सकारात्मक व नकारात्मक पॉइंट्स के बारे में पता होना चाहिए यदि नियोक्ता आपसे आपकी खूबियां जानने की चेष्टा  करे तो आपको पता होना चाहिए की आपमें ऐसी क्या खूबियां है जो उन्हें प्रभावित कर सकती है और यदि कमियां भी पूछे तो वो ही कमियां बताएं जो हर नार्मल इन्सान में होती ही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *