खेल

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता ने कहा ऋषभ पंत धोनी से अपनी तुलना बंद करें

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी का उत्तराधिकारी खुद को मानकर ऋषभ पंत अपने ऊपर गैर जनवरी दबाव बढ़ा रहे हैं । मालूम हो कि वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम में ऋषभ पंत को जगह नहीं मिली है । मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा है कि किसी भी खिलाड़ी को अपनी खराब फॉर्म से जुझने पर अपनी वापसी के लिए अपने अविश्वसनीय प्रतिभा का सहारा लेना चाहिए । मालूम हो कि कुछ समय पहले तक ऋषभ पंत क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में विकेटकीपिंग के लिए पहली पसंद माने जाते थे । लेकिन पिछले काफी समय से ऋषभ पंत अपनी फॉर्म हासिल करने में विफल रहे हैं और यही वजह है कि अब अनुभवी रिद्धिमान साहा की चोट से वापसी के बाद ऋषभ पंत को टीम में जगह नहीं मिल पाई है ।

ऋषभ पंत को टेस्ट टीम में भी जगह नहीं मिली । सीमित ओवरों के प्रारूप में भी ऋषभ पंत का बल्ला नहीं चला और विकेट के पीछे भी ऋषभ पंत का लचर प्रदर्शन ही रहा । भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा ‘मैं रोहित शर्मा और सुनील गावस्कर की बातों से सहमत हूं जो ऋषभ पंत को अकेला छोड़ने की बात कह रहे हैं । पंत बुरे दौर से गुजर रहे हैं और उन्हें फॉर्म में लौटने के लिए कुछ अच्छी पारियों की जरूरत है । टीम प्रबंधन से भी मिली चर्चा हुई है और उन्होंने कहा कि वे पंथ के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की पूरी कोशिश करेंगे । जहां तक बात है दबाव की, तो ऋषभ पंत को निश्चित रूप से यह पता होना चाहिए कि खेल के इस स्तर पर दबाव रहता है और जो इस दबाव को झेल लेता है वही वास्तविक चैंपियन बनता है ।

ऋषभ पंत के सामने विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों का उदाहरण भी है । मालूम हो कि एमएसके प्रसाद को 2016 में भारतीय टीम का मुख्य चयनकर्ता बनाया गया था । प्रसाद ने यह भी कहा कि ऋषभ पंत को कभी भी धोनी का उत्तराधिकारी बनने की कोशिश नहीं करना चाहिए । उन्होंने कहा ‘पंत को यह भी अहसास होना चाहिए कि उनकी एक अपनी अलग पहचान है । उन्हें कभी भी धोनी से अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए । लेकिन मुझे लगता है कि उनके दिमाग में कुछ ऐसा ही चल रहा है । वही एमएसके प्रसाद ने आगे धोनी के विषय में यह भी कहा कि “महेंद्र सिंह धोनी ने काफी समय तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलकर अपनी अच्छी छवि बनाई है ।

धोनी का आत्मविश्वास घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तरों पर उनके शानदार प्रदर्शन की वजह से उपजा है । जब कोई किसी महान खिलाड़ी से अपनी तुलना करने लगता है तब वह खुद पर गैरजरूरी दबाव डालता है और मुझे निजी तौर पर ऐसा लगता है कि ऋषभ पंत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है । ऋषभ पंत को अपनी प्रतिभा पर विश्वास होना चाहिए । मालूम हो कि वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम को चयनित कर लिया गया है और इसकी घोषणा की जा चुकी है । इसमें ऋषभ पंत को जगह नहीं मिली है ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *