लाइफस्टाइल

डायबिटीज के मरीज सर्दियों में रखें अपना खास ख्याल

सर्दियां आते ही मौसम खुशनुमा हो जाता है और अनेक प्राकृतिक बदलाव नजर आने लगते हैं । इंसान भी प्राकृति से जुड़ा हुआ है । इसलिए प्राकृतिक बदलाव मनुष्य के शरीर को भी सीधे तौर से प्रभावित करता है । प्रकृति में होने वाला यह बदलाव अन्य लोगों की तुलना में डायबिटीज यानी कि मधुमेह के रोगियों पर ज्यादा प्रतिकूल असर डालता है । इसलिए डायबिटीज के मरीजों को सर्दियों के मौसम में काफी सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है । हर साल 14 नवंबर को विश्व डायबिटीज दिवस मनाया जाता है ।

इस मौके पर चलिए जानते हैं कि डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति किस तरह की सावधानी बरते –

सर्दियों के मौसम का डायबिटीज के मरीजों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने का कारण यह है कि सर्द हवाओं के कारण शरीर में कई सारे हार्मोन का निर्माण होता है जो शरीर में शुगर लेवल को बढ़ा सकते हैं । तनाव ग्रस्त होने पर शुगर लेवल बढ़ने की संभावना रहती है । इसके अलावा भी कई अन्य कारकों के कारण भी ब्लड शुगर बढ़ सकता है , जैसे कि –

खाने में बदलाव–  ठंड के मौसम में सर्दी से बचने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का ज्यादा सेवन किया जाता है जो या तो मीठी होते हैं या फिर चिकनाई युक्त होते हैं । ठंड के मौसम में गुड़ की चिक्की, रेवड़ी, आदि का सेवन ज्यादा किया जाता है और ये ऐसे खाद्य पदार्थ है जो वजन बढ़ाने के अलावा शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाते हैं ।

नियमित तौर से व्यायाम न करना- सर्दियों के मौसम में अक्सर कई कई दिनों तक धूप नहीं निकलती है और कोहरा होने की वजह से लोगों में आलस्य होने लगता है । कई सारे लोग इस वजह से व्यायाम नहीं कर पाते हैं । जिसका नतीजा यह निकलता है कि लोगों का ब्लड शुगर बढ़ जाता है और वजन भी बढ़ जाता है । ठंड के मौसम में सर्दी जुखाम और अन्य संक्रामक रोगों का प्रकोप भी बढ़ जाता है । डायबिटीज के मरीजों में किसी भी तरह की बीमारी शारीरिक तनाव बढ़ाती हैं और इस वजह से ब्लड शुगर बढ़ जाता है ।

हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज- अक्सर देखा गया है कि जिन लोगों को डायबिटीज रहती है उन लोगों में हाई ब्लड प्रेशर या फिर हृदय रोग की समस्या भी रहती है । ऐसे में ठंड के मौसम में इन लोगों को विशेष ध्यान रखना होगा । सर्द हवाओं के कारण शरीर में खून गाढ़ा हो जाता है इससे ब्लड सरकुलेशन प्रभावित होता है । जिसकी वजह से ब्लड क्लोटिंग की संभावना बढ़ जाती है ।

कुछ विशेष बातों का ध्यान रखे

सर्दियों के मौसम में सेहत का विशेष ध्यान रखना होता है । ऐसे में खान-पान पर विशेष ध्यान देना जरूरी है । डायबिटीज के मरीज को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए । अपने आहार में ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्वों और हरी पत्तेदार सब्जियों का शामिल करना चाहिए । इसके अलावा ठंड के मौसम में उपलब्ध फल अमरूद, आंवला, पपीता का सेवन करे क्योकि इसमे विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है । ये तत्व शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं । डायबिटीज से पीड़ित लोगो के लिए साबूत अनाज जैसे गेहूं, जौ, बाजरा,और ज्वार का सेवन लाभकारी है । साथ ही  इन लोगों को तेल युक्त और तले खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए । सर्दी के मौसम में ड्राई फूड का सेवन फायदेमंद होता है ।

ध्यान रखने योग्य बातें

ठंड के मौसम में डायबिटीज की दवा  का भी खास ध्यान रखना चाहिए । इंसुलिन को हमेशा दो-पांच सेंटीग्रेड तापमान में रखा जाना चाहिए और ध्यान रखना चाहिए कि यह जमे न । डाइबिटीज से ग्रस्त लोगों को डॉक्टर की सलाह से विटामिन डी का सप्लीमेंट लेना चाहिए । क्योंकि सर्दियों के मौसम में शरीर में विटामिन डी की मात्रा कम होने लगती है । एक्सरसाइज करें । ठंड के मौसम में कोहरा आदि के कारण बाहर व्यायाम करना संभावना न हो तो घर के अंदर ही ट्रेडमिल पर एक्सरसाइज करना चाहिए । सर्दियों के मौसम में दोपहर का समय एक्सरसाइज करने में इस्तेमाल किया जा सकता है । सर्दियों में लिफ्ट की बजाय सीढियो का इस्तेमाल ज्यादा करना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा पैदल चलने की कोशिश करनी चाहिए ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *