भारत के युवक ने बनाए एलोवेरा से बैटरी

अभी हाल में ही संयुक्त राष्ट्र महासभा में जलवायु परिवर्तन को लेकर दुनिया के तमाम देश एकजुट हुए । आजकल जहाँ हर कोई जलवायु परिवर्तन को लेकर चर्चाएं कर रहा है तो वहीं भारत के दो युवकों ने मिलकर एक ऐसी बैटरी बनाई है जो इको फ्रेंडली होने के साथ-साथ जहरीली भी नहीं है । क्योंकि इस बैटरी को बनाने के लिए एक ऐसी चीज का इस्तेमाल किया गया है जिसका ज्यादातर महिलाएं अपने सौंदर्य को बढ़ाने के लिए या फिर वैज्ञानिक द्वारा उसका इस्तेमाल दवाइयों के बनाने में किया जाता है ।

दरअसल इन दो युवाओं ने इको फ्रेंडली बैटरी को बनाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया है । इसलिए यह बैटरी इको फ्रेंडली होने के अलावा जहरीले भी नहीं है । भारत के दो युवकों को दुनिया के टॉप 8 स्टार्टअप में शामिल किया गया है । यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण आविष्कार है और इन दोनों युवकों को स्पेन अपने यहां बुलाया है । इस बैटरी को बनाने वाली कंपनी का नाम है एलोइस प्राइवेट लिमिटेड,जिसके को फाउंडर हैं निमिषा बर्मा और नवीन वर्मा । इन दोनों की इस कंपनी को दुनिया की टॉप 8 स्टार्टअप कंपनी में जगह दी गई है ।

मालूम हो कि यह दोनों युवक राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी के छात्र रहे हैं और इंजीनियरिंग की है । इन्होंने बैटरी को बनाने में एलोवेरा का इस्तेमाल किया है जिससे यह बैटरी हंड्रेड परसेंट इको फ्रेंडली है और इसलिए यह नुकसानदायक भी नहीं है । ज्यादातर बैटरी गर्म हो जाने पर फट जाती हैं लेकिन यह बैटरी गर्म होने पर फटती नहीं है । एलोवेरा से बनी इस बैटरी का इस्तेमाल बैटरी से चलने वाले खिलौने, रिमोट और घड़ी में किया जा सकता है और इस बैटरी की खासियत यह है कि इस बैटरी के इलेक्ट्रोलाइट को प्राकृतिक तत्वों से बनाया गया है ।

इन्नोवेशन सम्मिट 2019 जोकि बर्सिलोना में होने वाला है उसके लिए इन दोनों युवकों को आमंत्रित किया गया है । इन्नोवेशन सम्मिट का आयोजन जर्मनी की कंपनी सेंडर इलेक्ट्रिक द्वारा आयोजित किया जाता है । और सन 2015 से यह कंपनी सस्टेनेबल डेवलपमेंट पर काम कर रही है । इस इन्नोवेशन सम्मिट प्रतियोगिता के लिए कई सारे स्टार्टअप की सूची तैयार की गई थी, जिसने भारत के इन दो युवकों की कंपनी जो कि एक स्टार्टअप कम्पनी है, को जगह मिली है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *