नौतपा के कारण भारत में 9 दिन पड़ेगी भीषण गर्मी

नौतपा के कारण भारत में 9 दिन पड़ेगी भीषण गर्मी

मई-जून के महीने में भारत में भीषण गर्मी पड़ती है । लेकिन 24 मई से भारत में गर्मी बढ़ गई है जिसकी वजह से कई शहरों में रिकॉर्ड तापमान दर्ज किया गया है । वहीं मौसम विभाग ने कई राज्यों को गर्मी के लिए ‘रेड अलर्ट’ कर दिया है और कहा है कि फिलहाल लू से राहत मिलना मुश्किल है और लोगों को दोपहर में घर से न निकलने की सलाह दी गई है । आने वाले कुछ दिनों में गर्मी और भी ज्यादा तेज होगी । अगर भारतीय ज्योतिष शास्त्र की बात माने तो इस समय को नौतपा कहा जाता है ।

नौतपा उसे कहा जाता है जब 9 दिन तक सूरज धरती से ज्यादा करीब आ जाता है और भारत में 25 मई से नौतपा शुरू हो गया है और अगले 9 दिन तक यानी कि 8 जून तक भारत में भीषण गर्मी पड़ेगी । सूर्य के नजदीक आ जाने से सूरज की रोशनी ज्यादा तेजी से पृथ्वी तक पहुंचने लगती है और तापमान बढ़ जाता है जिससे गर्मी बढ़ जाती है । वहीं मौसम विभाग ने चेतावनी देते हुए कहा है कि भारत में 48 डिग्री से भी अधिक का तापमान कुछ राज्यों में हो सकता है ।

ज्योतिष शास्त्र में बताया जाता है कि जब सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तब नौतपा प्रारंभ होता है और इसी के साथ गर्मी बढ़नी शुरू हो जाती है । लेकिन इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी है । जैसे कि सब को मालूम है कर्क रेखा भारत के 8 राज्यों से होकर गुजरती है और कर्क रेखा ओर सूर्य पृथ्वी से सबसे ज्यादा करीब होता है । सूर्य और पृथ्वी के बीच की दूरी कम हो जाती है तो स्वाभाविक है कि धूप सीधे पड़ेगी और तापमान बढ़ जाएगा ।

अधिक मात्रा में तरल पेय पदार्थ का सेवन करने से लू और गर्मी से बचा जा सकता है
अधिक मात्रा में तरल पेय पदार्थ का सेवन करने से लू और गर्मी से बचा जा सकता है

मई जून के महीने में भारत में सूर्य की सीधी किरणे कर्क रेखा पर पड़ती है और यही वजह है कि भारत में मई-जून में भीषण गर्मी पड़ती है । वहीं मौसम विभाग द्वारा चेतावनी देते हुए ‘रेड वार्निग’ जारी की गई है और कहां गया है कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, तेलंगाना, छत्तीसगढ,़ गुजरात, उड़ीसा और महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और उत्तरी कर्नाटक में भीषण गर्मी के साथ लू पड़ने की संभावना है और मालूम हो कि जब तापमान 45 डिग्री से अधिक हो जाता है तब भयानक लू पड़ना शुरू हो जाती है ।

यह भी पढ़ें : स्वस्थ रहने को किस मौसम में किस बर्तन में पानी पिये आइये जानते हैं

यह लू यानी कि गर्म हवाओं के थपेड़े की वजह से इंसान इससे जुलूस सकता है और कई तरह की समस्याएं पैदा करता है। कर्क रेखा जिन राज्यों से होकर गुजरती है उन राज्यों में तापमान में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी । लिहाजा वहां पर भीषण गर्मी और लू पड़ने की संभावना है । इसलिए गर्मी और लू से बचने के लिए लोगों से मौसम विभाग द्वारा अपील की जा रही है कि वह दोपहर के वक्त में घर से बाहर न निकले और गर्मी तथा लू से बचने के लिए अपना विशेष ध्यान रखें लू और गर्मी से बचने के लिए खानपान पर ध्यान देना जरूरी हो जाता है ।

ऐसे में डाइट में उन चीजों को शामिल करना चाहिए जो ठंडी तासीर के हो और इस मौसम में मौसमी फल लीची, आम, तरबूज आदि का सेवन और तरल पेय पदार्थ का सेवन करने से लू और गर्मी से बचा जा सकता है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *