23 C
Delhi
Thursday, January 21, 2021

आइए जानते हैं कैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्वास्थ्य सुविधाओं में कर सकता है सुधार

Must read

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आंखों की थकावट और सूजन को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

जब बहुत ज्यादा देर तक जब सोने के बाद सुबह सो कर उठे हैं तो अक्सर हमारी आंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर...

क्या जापान जानता है Subhash Chandra Bose के गायब होने का पूरा सच!

आजादी के महानायक नेता Subhash Chandra Bose के गायब होने का सच जापान को पता है, ऐसा कहना है नेताजी के परपौत्र चंद्र कुमार...

भारत में स्वास्थ्य सुविधा उतना बेहतर नहीं है। बढ़ते हुए आबादी और डॉक्टरों के विदेशों में बढ़ते पलायन की वजह से स्वास्थ्य सुविधाओं की आवश्यकता और उपलब्धता में असंतुलन बन रहा है।

जैसे-जैसे जीवनयापन की लागत बढ़ती जा रही है स्वास्थ्य सुविधाओं की लागत आए दिन कम होती जा रही है। लेकिन समस्या यह नही है कि स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए हम खर्च नही कर सकते बल्कि समस्या यह है कि हमें एक ऐसा समाधान चाहिए, जो कम दाम में बड़ी आबादी की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो, जिससे मृत्यु दर को कम किया जा सके और स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता को आमजन तक आसानी से पहुंचाया जा सके।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(एआई)  का उपयोग करके सुधारात्मक तकनीक में सुधार करने की पूरी संभावनाएं हैं। इससे समस्याओं का एक बेहतर समाधान निकल सकता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कई स्तर से मददगार साबित हो सकती है और स्वास्थ्य संसाधनों की खाई को भरने के लिए आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करना जरूरी हो गया है।

आज के दौर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसा समाधान प्रदान कर सकता है जो स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित है। खास करके उनके लिए प्राथमिक परत के रूप में इसका इस्तेमाल करें तो बेहतर होगा।

यह भी पढ़ें : वजन कम करने और इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए मुलेठी है बहुत फायदेमंद

आज के दौर में मोबाइल फोन और किफायती डाटा की वजह से कनेक्टिविटी बढ़ रही है, सामाजिक परिवर्तन हो रहे हैं और सस्ती स्वास्थ्य सुविधा द्वारा जनता को लाभान्वित किया जा सकता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को शुरू करके लोगों तक इसे आसानी से पहुंचा के बाधाओं को दूर किया जा सकता है।

artificial intelligence

लेकिन कंप्यूटर को जटिल सिद्धांतों को समझने और मानव को उसे समझाने और उसके उपयोग को आसान बनाने के लिए इसका कौशल विकसित करना और इसे और अधिक उपयोगी बनाकर लोगों के लिए सुलभ बनाना होगा।

विश्व स्तर पर देखा जाए तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्रांति का सबसे ज्यादा असर स्वास्थ्य सुविधाओं में देखने को मिल रहा है।

लेकिन यह निवेश पर भी निर्भर करता है क्योंकि जब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर निवेश बढ़ाया जाएगा तब वैज्ञानिक ज्यादा अनुसंधान के साथ अपनी सेवाओं को बेहतर करने में सक्षम हो सकेंगे। तभी सटीक दवाओं के परिणाम और सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार देखने को मिलेगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(एआई) का इस्तेमाल करके भारत में निम्नलिखित सुधार किया जा सकता है-

  • योग्य पेशेवरों और डॉक्टरों, नर्सों, टेक्नीशियन जैसे बुनियादी ढांचा की कमी को दूर किया जाना सम्भव होगा।
  • स्वास्थ्य क्षेत्र में गैर समान पहुंच कम हो जाएगी और ग्रामीण और शहरी भारत के बीच के अंतर को कम करने में मदद मिलेगी।
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आने से स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हो जाएगी, जिससे गरीब और लाचार लोगों को ज्यादा मुश्किल नही देखनी पड़ेंगे।
  • अभी अधिकांश स्वास्थ्य सुविधा आसानी से असहाय लोगो तक नही पहुँच पाती है लेकिन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आने से इसकी पहुंच सब लोगों तक हो सकेगी।
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आने से लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाओं को आम लोगो तक पहुंचाने में आसानी होगी और स्वास्थ्य में सुधार के लिए दैनिक स्तर पर उनके दैनिक जीवन शैली की निगरानी कर के सटीक इलाज किया जा सकेगा।
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कई सारी बीमारियों के संकेत उनकी गंभीरता से पहले ही पता चल जाएंगे, जिससे उन बीमारियों की रोकथाम में मदद मिलेगी जैसे कि ब्लड प्रेशर के पैटर्न में बदलाव, सांस लेने के पैटर्न में बदलाव, मधुमेह और कैंसर जैसी बीमारियों के संकेत समय से पहले मिल जाएंगे और उनका इलाज जल्द से जल्द शुरू हो सकेगा।

यह भी पढ़ें : ब्रेन ट्यूमर क्यों समझी जाती है खतरनाक बीमारी, इसके कारण, लक्षण और इलाज के तरीके

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आंखों की थकावट और सूजन को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

जब बहुत ज्यादा देर तक जब सोने के बाद सुबह सो कर उठे हैं तो अक्सर हमारी आंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर...

क्या जापान जानता है Subhash Chandra Bose के गायब होने का पूरा सच!

आजादी के महानायक नेता Subhash Chandra Bose के गायब होने का सच जापान को पता है, ऐसा कहना है नेताजी के परपौत्र चंद्र कुमार...

क्यों होता है पेट का कैंसर ( Colon Cancer ) ? क्या है इसके शुरुआती लक्षण

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जो हमारे शरीर कि किसी भी हिस्से मे कभी भी हो सकती है। ज्यादातर हम लोग गले का कैंसर,...