भारत में आधिकारिक कोरोना वायरस के दर्ज मामले से लगभग 20 गुना अधिक है संक्रमितों की संख्या

भारत में आधिकारिक कोरोना वायरस के दर्ज मामले

भारत में आधिकारिक कोरोना वायरस के दर्ज मामले

भारत में आधिकारिक रूप से हर दिन तीन लाख से अधिक कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए जा रहे हैं लेकिन एक शोध से पता चला है कि भारत में आधिकारिक कोरोना वायरस केस के दर्ज मामले से लगभग 20 गुना अधिक संक्रमितों की संख्या है।

इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवेलुएशन की ताजा खबर में बताया गया है कि 1 अगस्त 2021 तक भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगभग 959561 हो सकती है।

वही पैसे का स्तर के अनुमान की बात माने तो यह अनुमान का आंकड़ा लगेगा 50,5,0464 रहने की उम्मीद है। जिससे यह स्पष्ट होता है कि भारत में कोरोना वायरस से होने वाली कुल मौतों में हिस्सेदारी 20% के आसपास रह सकती है।

आईएचएमई वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में एक वैश्विक स्वास्थ्य अनुसंधान केंद्र स्थित है। इसके अनुमान को व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े के अनुसार 26 अप्रैल 2021 तक दुनिया भर में 31 लाख 4746 लोगों की मृत्यु कोरोना वायरस की वजह से हुई है। जिसमें भारत की संख्या 1,95,123 पहुंच गई है।

आईएचएमई के इस शोध में शामिल प्रोसेसर क्रिस्टोफर का कहना है कि भारत सरकार द्वारा जारी किए गए कोरोना वायरस के मामले काफी अधिक हैं। भारत में कोरोना वायरस के मामले और उससे होने वाली मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

विश्लेषण से पता चलता है कि भारत में कोरोना वायरस के मरने की दर 5 फ़ीसदी से भी कम है। यह लगभग 3 से 4 के आसपास बताई जा रही है। लेकिन विश्लेषण से पता चला है कि भारत में संक्रमणो की संख्या 20 गुना या उससे भी अधिक हो सकती है।

अभी हाल के समय में कोरोना वायरस के संक्रमणो की संख्या में असाधारण वृद्धि देखी गई है। पिछले 2 हफ्ते में विश्व स्तर पर होने वाले संक्रमण की तुलना में भारत में सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले देखे गये है।

विश्लेषण के अनुसार भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के वास्तविक आंकड़े प्रतिदिन लगभग 60 लाख के आसपास हो सकते हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि 15 मई तक का कोरोना वायरस के संक्रमनों की संख्या डेढ़ करोड़ तक पहुंच सकती है।

भारत में कोरोना वायरस से लोग बहुत जल्दी संक्रमित हो जा रहे है। इसका मतलब यह है कि भारत ने मई के मध्य तक कोरोना वायरस के प्रसार में गिरावट देखने को मिल सकती है।

कोरोना वायरस से बचने को बने क्वारंटाइन नियम न मानने पर इटली में जुर्माना

हालांकि अभी इसके बारे में स्पष्ट रूप से कुछ भी नहीं कहा जा सकता है कि भारत में कोरोना वायरस के मामले में गिरावट दर्ज की जाएगी और संक्रमित के मामले पीक पर पहुंच जायेगे। लेकिन इस स्थिति से साफ पता चल रहा है कि भारत में कोरोना वायरस की भयावह स्थिति बनी हुई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की हाल में ही किए गए  सर्वेक्षण से पता चलता है कि कोरोना वायरस महामारी घोषित होने के बाद इसके विरुद्ध 90 देशों में आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं की डिलीवरी सही ढंग से नहीं हो पा रही है। इस महामारी के लिए आपातकालीन स्थिति के लिए सभी तरह के स्वास्थ्य सेवाओं का इस्तेमाल होना बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें :– आइए जानते हैं बंगाल में मिले कोरोना के ट्रिपल म्यूटेशन वैरीएंट और इसके खतरे के बारे में