भारत-पाक सीमा पर जवानों की मुस्तैदी से गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान को है डर

भारत-पाक सीमा पर जवानों की मुस्तैदी से गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान को है डर …

साल 2020 की शुरुआत के साथ ही भारत को एक नए सीडीएस मिल गए हैं । भारत के पहले सीडीएस के रूप में जनरल बिपिन रावत की नियुक्ति हो गई है और इसी के साथ पाकिस्तान दहशत में है । पाकिस्तान दहशत में भारत की वजह से है । पाकिस्तान के दहशत में होने का जिक्र गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति सरदार मसूद खान ने किया है ।

गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति सरदार मसूद खान को भारतीय सेना के जवानों की भारत-पाक सीमा पर मुस्तैदी से डर लग रहा है और इस बात का अ दज इस बात की भी लगाए जा रहे हैं कि मसूद खान को डर भारत मे नए सीडीएस की नियुक्ति से भी लग रहा है । गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति का कहना है कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान से लगती लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी)पर घातक हथियार तैनात किये हैं जिसे मोदी सरकार द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ इस्तेमाल के लिए तैयार किया गया है।

इसकी डिजाइन सबसे आक्रामक है । मसूद खान ने गवर्नर हाउस में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि भारत सरकार द्वारा की गई इस तरह की गतिविधियों स पाकिस्तान को सबसे ज्यादा खतरा है । इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि सीमा पर इस तरह के हथियार की तैनाती से उस क्षेत्र में शांति को खतरा भी उत्पन्न हो गया है । मालूम हो कि अभी कुछ समय पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि सेना गुलाम कश्मीर में किसी भी तरह की कार्यवाही करने के लिए तैयार हैं बस उन्हें सरकार से आदेश मिलने का इंतजार है ।

बिपिन रावत ने यह बयान सेना के प्रमुख रहते हुए सितंबर के माह में दिया था । मसूद खान को डर इस बात का भी है कि सरकार ने बयान दिया था कि गुलाम कश्मीर को भारत में शामिल कर लिया जाएगा और भारत सरकार ने पाकिस्तान से लगी सीमा पर आकाश मिसाइल की तैनाती करने की भी बात कही है ।

बता दें कि भारत सरकार ने अभी कुछ समय पहले जम्मू-कश्मीर के नए नक्शे को जारी किया है जिसमे चीन द्वारा अवैध तरीके से कब्जा किए गए अक्साई चीन और पाकिस्तान द्वारा कब्जा किए गए गुलाम कश्मीर को भारत का हिस्सा बताया दिखाया गया है ।

भारत सरकार के द्वारा जारी किये गए जम्मू कश्मीर के नक्शे को गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति ने गलत करार दिया है और उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जो बातें कही उससे यह साफ जाहिर हो रहा है कि उन्हें डर है कि गुलाम कश्मीर भारत में शामिल हो सकता है । मालूम हो कि पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करने को भारत सरकार ने ट्रेलर करार दिया था ।

बालाकोट एयर स्ट्राइक से भी पाकिस्तान को काफी बौखलाहट हुई थी । गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान का कहना है कि भारत के इस तरह की कार्रवाई से पाकिस्तान समेत पूरी दुनिया पर इसका घातक प्रभाव होगा और उन्होंने भारत कई सारे बुनियादी आरोप भी लगाए । मसूद खान का कहना है कि भारत और पाकिस्तान दोनों के पास परमाणु हथियार हैं ।

इस वजह से दोनों देशों के बीच किसी भी तरह के तनाव की स्थिति का युद्ध मे बदलने से सारी दुनिया को नुकसान होगा । मालूम हो कि जम्मू कश्मीर से भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटाये जाने पर पाकिस्तान ने कई सारे देशों समेत संयुक्त राष्ट्र से भी मदद की गुहार लगाई लेकिन उसे कहीं से भी कोई मदद नहीं मिली थी ।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *