लेखक चेतन भगत का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल

लेखक चेतन भगत का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल

अभी जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आए हुए थे तब उन दिनों दिल्ली में हिंसा हुई । यह हिंसा नागरिकता संशोधन कानून पर इसके समर्थक और विरोधियों के बीच सुरु हुई थी । इस हिंसा पर आम लोग और बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटी ने सोशल मीडिया पर अपने नजरिया रखा । चेतन भगत ने भी इस विषय पर एक ट्वीट किया है जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है ।

मालूम हो कि चेतन भगत एक मशहूर लेखक हैं और उनके लिखे कई उपन्यास पर फिल्में भी बन चुकी हैं । चेतन भगत ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट में कोरोनावायरस के बारे में लिखा है और भारत की अर्थव्यवस्था पर भी अपना विचार रखा है ।

चेतन भगत ने अपनी ट्वीट में लिखा की दुनिया भर के बाजारों में कोरोनावायरस की वजह से गिरावट दर्ज की जा रही है और इसका असर ग्लोबल मांग पर पड़ रहा है । भारतीय अर्थव्यवस्था पहले से ही सुस्ती के दौर से गुजर रही है जिससे ऐसे में उबरना अब मुश्किल होगा । इस सबका असर जॉब ग्रोथ पर भी पड़ रहा है । इस पर तुरंत ध्यान देना चाहिए ।

लेकिन भारत में हिंदू मुस्लिम, हिंदू मुस्लिम चल रहा है । चेतन भगत द्वारा सोशल मीडिया पर किए गए इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं । एक तरफ जहां कुछ लोग चेतन भगत का समर्थन कर रहे हैं तो ऐसे भी लोग हैं जो इसका विरोध कर रहे हैं । बता दें की इसके पहले भी चेतन भगत द्वारा किए गए ट्वीट ने सुर्खियां बटोरी थी और सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था । चेतन भगत ने अपने ट्वीट में लिखा –

 

 “भारत 1947 : हिंदू मुस्लिम हिन्दू मुस्लिम

इसी बीच दुनिया चाँद पर पहुँच रही, कम्प्यूटर, इंटरनेट, आर्टिफिशियल इंटेलीजेन्स, सेलफोन, स्मार्टफोन, एप्स

भारत 2020 : हिन्दू मुस्लिम हिंदू मुस्लिम

 

बता दें कि चेतन भगत के उपन्यास पर कई सारी फिल्में बन चुकी हैं जिसमें 3 ईडियट्स, टू स्टूडेंट स्टेट्स जैसी फिल्में शामिल है । चेतन भगत द्वारा लिखे गए कुछ उपन्यास टॉप बेस्ट सेलर की लिस्ट में शामिल हुए हैं । जिसमें 2 स्टेट्स,वन इंडियन गर्ल, थ्री मिस्टेक ऑफ़ माय लाइफ( जिस पर 3 इडियट मूवी बनी ), वन नाइट अट कॉल सेंटर, फाइव प्वाइंट समवन आदि है ।

मालूम हो कि चेतन भगत ने आईआईटी दिल्ली से इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट किया है और आईआईएम अहमदाबाद से पोस्ट ग्रेजुएट किया है । एक इंटरव्यू में चेतन भगत ने कहा हिंदी भाषी पाठकों के बीच पहुंचना बहुत जरूरी है ।

अगर मैं हिंदी भाषी पाठकों तक नहीं पहुंच पाया तो मैं एक भारत का लेखक नहीं हूं । आजकल के युवा चेतन भगत को अपना आदर्श मानते हैं । मालूम हो कि चेतन भगत हिंदी और इंग्लिश दोनों समाचार पत्रों में लेख भी लिखते है ।

चेतन भगत द्वारा लिखा गया पहला उपन्यास “फाइव प्वाइंट समवन” का जब हिंदी अनुवाद किया गया तो वो बुक उपन्यास लगातार सबसे ज्यादा दिन तक रिकॉर्ड बेस्ट सेलर रहा ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *