क्या भारतीय महिला टीम टी 20 विश्वकप फाइनल मैच खेलेगी ..?

क्या भारतीय महिला टीम टी 20 विश्वकप फाइनल मैच खेलेगी ..?

जैसे कि मालूम है इन दिनों टी 20 का महिला विश्व कप मैच खेला जा रहा है । भारतीय महिला टीम टी 20 में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है । 27 फरवरी को खेले गए मैच में भारत ने न्यूजीलैंड को हरा दिया है । यह मैच मेलबर्न में खेला गया और इस तरह से भारतीय टीम सेमीफाइनल में पहुंच गई है । कप्तानी हरमनप्रीत कौर की निगरानी में खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे है । इसलिए इस टीम को “हरमन सेना” के तौर पर भी लोग बुला रहे हैं ।

भारत ने आखिरी गेंद पर न्यूजीलैंड को 3 रन से हरा दिया और इस तरह से भारत ने लगातार तीन मैच जीतकर हैट्रिक पूरी कर ली । लेकिन भारतीय महिला टीम की कप्तान अपने बल्लेबाजों के प्रदर्शन से थोड़ा नाखुश है । मैच के बाद टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने अपनी टीम को बचकानी गलतियां करने के प्रति आगाह किया है ।

हरमनप्रीत कौर ने आईसीसी महिला टी 20 वर्ल्ड कप मैच में बड़े मैच से पहले बल्लेबाजों को अपने प्रदर्शन को सुधारने के प्रति चेतावनी दी है । न्यूजीलैंड से जीतने के बाद हरमनप्रीत ने कहा की हमारी टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही है और मैच जीत रही है लेकिन हम जो गलतियाँ कर रहे उनको सुधार करना होगा ।

टीम के मध्यक्रम के खिलाड़ीयो को अच्छी ली कि शुरुआत को बरकरार रखना होगा । हरमनप्रीत कौर ने आगे कहा कि “आगे होने वाले मैच टक्कर के होंगे और हमें गलतियां करने से बचना होगा ,शेफाली बर्मा हमें अच्छी शुरुआत दे रही हैं, उनके शुरू में बनाए गए रन हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है” ।

मालूम हो कि न्यूजीलैंड के खिलाफ शेफाली ने इस मैच में 46 रन बनाए और लगातार दूसरी बार वो “प्लेयर ऑफ द मैच” चुनी गई । अपने प्रदर्शन पर सेफाली भी खुश हैं । शेफाली ने कहा की वो अपने प्रदर्शन के लय को बरकरार रखना चाहती है । मालूम हो कि शैफाली बर्मा सबसे कम उम्र की खिलाड़ी हैं जिन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब मिला है ।

शेफाली बर्मा अपने क्रिकेट कैरियर का पहला टी 20 महिला विश्व कप खेल रही है । उन्होंने अपने पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 29 रन की पारी खेली थी और बांग्लादेश के खिलाफ शानदार तूफानी 39 रन बनाए थे और न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने आज 46 रन की पारी खेली है ।

इस तरह से टी 20 विश्व कप में यह उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी है । न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत पर शेफाली ने कहा कि वे अपनी पिता और लड़कों के साथ क्रिकेट की प्रैक्टिस करती थी और यही वजह थी कि वह एक बेहतर खिलाड़ी बन पाई । इसके लिए उन्होंने अपने पिता और उन खिलाड़ियों का धन्यवाद भी किया ।

बांग्लादेश के खिलाफ शैफाली वर्मा ने तूफानी पारी खेली जैसे उन्हें “लेडी वीरेंद्र सहवाग” के नाम से हुए लोग बुलाने लगे हैं । भारतीय महिला टीम जिस तरह का प्रदर्शन कर रही उससे हो सकता है भारतीय टीम फाइनल मैच खेले ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *