दिल्ली में दो दिन से हिंसा,

दिल्ली में 2 से हिंसा, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीएए पर कहा..

दिल्ली में 2 दिन से हिंसा जारी है । दिल्ली के पूर्वी जिलों में आगजनी और हिंसा की घटनाएं हुई जिसमें एक कांस्टेबल की मृत्यु भी हो गई है । ऐसे संदेह जताया जा रहा है कि यह सब एक सोची-समझी साजिस के तहत हुआ है और पुलिस इसमें नाकाम हुई है । दिल्ली में रह रह कर हो रही हिंसा के बीच गृह मंत्रालय ने आदेश जारी कर दिया है कि हिंसा करने वाले को सीधे गोली मार दी जाए ।

मालूम हो कि दिल्ली के उत्तर पूर्वी के मौजपुर, चांदबाग, और इसके आस पास के क्षेत्रों में रहकर हिंसा हो रही है और पुलिस मोर्चे को संभालने के लिए इन इलाकों में मार्च करना भी शुरू कर दिया है । हालात पर काबू पाने के लिए मौजपुर के आसपास जाफराबाद रोड पर अर्धसैनिक बल को तैनात कर दिया गया है । दिल्ली पुलिस ने कई इलाकों में धारा 144 लगा दी है और हिंसा पर काबू करने के लिए हर कोशिश कर रही है ।

इसी बीच दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने बयान दिया है कि अफवाह फैलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने मंत्रिमंडल सहयोगियों के साथ मिलकर हालात पर चर्चा की । मालूम हो कि दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून के लिए हो रहे विरोध प्रदर्शन पर इसके समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसा हुई और धीरे-धीरे बढ़ती गई ।मालूम हो कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आए हुए हैं ।

डोनाल्ड ट्रंप के दो दिवसीय यात्रा पर दिल्ली में इस तरीके से हिंसा भड़क गई है और दिल्ली पुलिस इस पर काबू करने की कोशिश कर रही है लेकिन इसके बावजूद 2 दिन से हिंसा जारी है । बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून 15 दिसंबर को पारित कर दिया गया है और इसी के विरोध में दिल्ली में विरोध प्रदर्शन चल रहा है ।

वहीं कुछ लोग नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन भी कर रहे हैं और समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं । ऐसे में दोनों पक्षो के बीच हिंसा भड़क गई । जिससे दिल्ली के कई जगहों पर आगजनी जैसी घटनाएं हुई और हिंसा बेकाबू हो गई । डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है ।

ट्रम्प ने यह भी कहा कि मोदी इस्लाम और ईसाई धर्म के लिए काम कर रहे हैं । भारत ने सोच-समझकर ही जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया है और आने वाले समय में भारत और ज्यादा सशक्त होने जा रहा है और आर्थिक नजरिए से देखें तो भी भारत सशक्त हो रहा है ।

भारत सीमा पर पाकिस्तान से आतंकवाद के मसले पर पूछे जाने पर ट्रंप ने भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की पेशकश की । दिल्ली में हुई हिंसा पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हमने धार्मिक स्वतंत्रता के बारे में बात की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि लोगों को धार्मिक स्वतंत्रता मिले और इसके लिए वो वास्तव में काम कर रहे हैं ।

मैंने व्यक्तिगत हमलों के बारे में सुना लेकिन मैंने इसकी चर्चा नहीं की । यह भारत पर निर्भर है । अन्य देश की तुलना में भारत में ज्यादा धार्मिक आजादी है और भारत घार्मिक आजादी की दिशा में बहुत अच्छा काम कर रहा है । भारत में सभी धर्मों का सम्मान है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *