डोनाल्ड ट्रंप क्या महाभियोग प्रक्रिया को पार कर लेंगे !
राजनीति

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप क्या महाभियोग प्रक्रिया को पार कर लेंगे !

जैसा कि मालूम है अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर महाभियोग की प्रक्रिया चलाई जा रही है । लेकिन क्या डोनाल्ड ट्रंप किस महाभियोग की प्रक्रिया से आसानी से पार निकल जाएंगे ? क्या ऐसा संभव है ? अगर संभव है तो यह किस वजह से ?

दरअसल खबर आ रही है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप महाभियोग की प्रक्रिया को आसानी से पार कर जाएंगे क्योंकि लोकतंत्र में संख्या का खेल काफी महत्वपूर्ण होता है और डोनाल्ड ट्रंप इस संख्या खेल में बाजी मार ले जाएंगे । भले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को निचले सदन में हार का सामना करना पड़ा है लेकिन हो सकता है डोनाल्ड ट्रंप महाभियोग की प्रक्रिया को पार कर ले जाएं ।

मालूम हो कि डोनाल्ड ट्रंप से पहले अमेरिका के दो और राष्ट्रपतियों पर महाभियोग की प्रक्रिया चलाने की मंजूरी दी गई थी । डोनाल्ड ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी से संबंधित है और उच्च सदन में रिपब्लिकन का दबदबा है । ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि डोनाल्ड ट्रंप महाभियोग की समस्या को पार करने में कामयाब हो जाएंगे ।

डोनाल्ड ट्रंप की सत्ता फिलहाल सुरक्षित कही जा रही है क्योंकि महाभियोग की प्रक्रिया निचले सदन में पूरी होने के बाद भी रिपब्लिकन पार्टी बहुमत वाली सीनेट से इसका पास होना मुश्किल होगा । सीनेट में रिपब्लिकन की संख्या अधिक है तो इस बात की संभावना लगभग ना के बराबर है कि ट्रम्प को राष्ट्रपति पद से हटाया जा सकता है ।

डोनाल्ड ट्रंप केवल एक ही शर्त पर राष्ट्रपति पद से हट सकते हैं जो उनकी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी के 20 संसद उनके खिलाफ विद्रोह कर ले, जिसकी संभावना बेहद कम है । ऐसे में डोनाल्ड ट्रंप की सत्ता सुरक्षित कही जा सकती है । बुधवार को निचले सदन में वोटिंग की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सीनेट में होगी । मालूम हो कि डोनाल्ड ट्रंप पर सत्ता के दुरुपयोग और संसद के काम के अवरोध पैदा करने का आरोप लगा है ।

डोनाल्ड ट्रंप पर महाभियोग की कार्यवाही की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस करेंगे । अमेरिका में दो सदनात्मक व्यवस्था है । निचला सदन और ऊपरी सदन सीनेट । निचले सदन में डेमोक्रेट्स का दबदबा है तो सीनेट में रिपब्लिकन का दबदबा है । डेमोक्रेट हाउस की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने महाभियोग से जुड़े लेखों पर हस्ताक्षर कर दिए हैं जिसमें यह कहा गया है कि डोनाल्ड ट्रंप ने कांग्रेस के साथ दुर्व्यवहार और बाधा डालने का काम किया है ।

नैंसी का कहना है कि हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा को कमजोर करने और उनके पद की शपथ लेने और हमारी सुरक्षा को खतरे में डालने के लिए की गई कार्यवाही पर हस्ताक्षर करके अनौपचारिक पेन का उपयोग करना पड़ा और यह हमारे लिए दुखद है ।

मालूम हो कि ट्रम्प के खिलाफ सदन के निचले सदन में महाभियोग की कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट भेजने के पक्ष में सांसदों ने मतदान किया । निचले सदन में 7 महाभियोग प्रबंधकों की नियुक्ति की गई है जो डेमोक्रेट की तरफ से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाने के लिए बहस करेंगे । इन सात प्रबंधकों की नियुक्ति निचले सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने की है ।

अमेरिका के 45 राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप देश के इतिहास में तीसरे ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनके खिलाफ महाभियोग चलाने की प्रक्रिया को मंजूरी मिल गई है । डोनाल्ड ट्रंप पर आरोप लगाया गया था कि 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित प्रतिद्वंदी और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच के लिए उन्होंने दूसरे देश की सरकार पर दबाव बनाया और उनके बीच हुई बातचीत को महाभियोग के लिए एक अहम सबूत के रूप में पेश किया गया था ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *