डु प्लेसिस ने की सन्यास की घोषणा

डु प्लेसिस ने की सन्यास की घोषणा, एमएस धौनी से हो रही है तुलना

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की गणना दुनिया के महानतम कप्तानों में होती है । भारत के लिए धोनी ने बतौर कप्तान टी 20 और वनडे वर्ल्ड कप के साथ-साथ कई सारी चैंपियंस ट्रॉफी जीती है । इन दिनों महेंद्र सिंह धोनी के सन्यास को लेकर सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है । अब धोनी की तुलना दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस से भी की जा रही है ।

दरअसल दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने टेस्ट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है और उन्होंने जो बयान दिया है उस बयान से पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर सवाल खड़े हो गए हैं । मालूम हो कि दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज चल रही है ।

दक्षिण अफ्रीका ने पहला मुकाबला जीत लिया लेकिन अगले दो मुकाबले में उसे हार मिली क्योंकि इंग्लैंड ने जोरदार वापसी करते हुए शेष टेस्ट का दूसरा और तीसरा मुकाबला बड़ी जीत के साथ सीरीज में बढ़त बना ली । दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने टेस्ट से संन्यास लेने के संकेत दिए । यह उस वक्त आया जब दक्षिण अफ्रीका को इंग्लैंड से टेस्ट में एक पारी और 53 रन की बड़े हार मिली ।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने इंटरव्यू के दौरान कहा की सबसे खराब लीडर वह होता है जो बीच में टीम को छोड़कर भाग जाए और कहा मुझे माफ करना साथियों मैं अब जा रहा हूं, मुझे जितना करना था मैंने कर लिया ।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान के इस बयान की तुलना महेंद्र सिंह धोनी से की जा रही है क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी ने 2014 में टेस्ट क्रिकेट से उस वक्त संन्यास की घोषणा कर दी थी जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी और टेस्ट सीरीज खेल रही थी । भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज में तीसरे मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी संन्यास की घोषणा कर दी थी क्योंकि उस वक्त भारतीय टीम लगातार दो टेस्ट में हारने के बाद सीरीज में 0-2 से पीछे चल रही थी ।

धोनी के इस फैसले को गैर जिम्मेदार ठहराया गया था । इन दिनों महेंद्र सिंह धोनी के वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने की सोशल मीडिया पर बहस छिड़ी हुई है क्योंकि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड के हाथों भारतीय टीम को हार मिली थी भारतीय टीम विश्वकप से बाहर हो गई थी ।

उसके बाद से धौनी ने कोई भी क्रिकेट भारतीय टीम के लिए नहीं खेला है ।धोनी खुद को लगातार अनअवेलेबल बता रहे थे । इस दौरान धोनी ने भारतीय सेना में भी अपनी सेवाएं दी और सेना के जवानों का हौसला बढ़ाया । बीसीसीआई द्वारा न्यूजीलैंड दौरे के लिए भी धोनी को जगह नहीं दी गई है और धोनी को कॉन्ट्रैक्ट से बाहर रखा गया है क्योंकि धोनी ने पिछले 6 महीने में भारतीय टीम के लिए कोई क्रिकेट नहीं खेली है ।

धोनी के संन्यास को लेकर समय-समय पर कई सारे क्रिकेटरों के बयान आते रहते हैं । खुद धोनी ने भी अपने संन्यास के फैसले पर जनवरी तक का इंतजार करने के लिए कहा था । अब देखते हैं कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी क्या फैसला लेते है ?

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *