17 C
Delhi
Monday, January 25, 2021

आइये जाने उस देश के बारे में जहां बसता है “मिनी हिंदुस्तान”

Must read

आइए जानते हैं भारतीय संविधान की मूल प्रति क्यों रखी गई है गैस चेंबर में

26 जनवरी 2021 को भारत अपना 72 वाँ Republic Day ( गणतंत्र दिवस ) मनाने जा रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत...

खांसी की समस्या को दूर करने के लिए इस तरह भाप में संतरा पका कर खाएं

खांसी की समस्या सर्दी के मौसम में बच्चे, बूढ़े, बड़े सब को परेशान करती है। लगातार खांसी की वजह से गले में दर्द और...

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आज हम ऐसे ही एक देश की बात करने जा रहे हैं जहां पर बसता है “मिनी हिंदुस्तान” ।  वैसे तो दुनिया की हर कोने में कहीं न कहीं भारतीय रहते ही हैं । लेकिन कई देश ऐसे हैं जहां भारतीय काफी ज्यादा संख्या में रहते हैं । ऐसे में उन देशों को अगर हम “मिनी हिंदुस्तान” की संज्ञा दे तो यह ज़्यादती नही मानी जानी चाहिए ।

यह देश दक्षिण प्रशांत महासागर के मेलानेशिया में स्थित एक द्वीपीय देश के तौर पर जाना जाता है । इस देश की आबादी की 37 फीसदी आबादी भारतीयों की है और ये भारतीय इस देश में सैकड़ों साल से रह रहे हैं । इतनी ज्यादा तादाद में भारतीयों के रहने की वजह से उस देश की राजभाषा में हिंदी भाषा को भी जगह दी गई है और तो और इस देश में अवधि भाषा भी बोली जाती है और उसका विकास हो रहा है ।

जी हां इस देश का नाम है – फिजी । फिजी एक ऐसा देश है जहां पर खनिज और जलीय खनिज के स्त्रोत काफी अच्छी तादाद में पाए जाते हैं । यह प्रशांत महासागर के द्वीपीय देशों में सबसे ज्यादा विकसित देश माना जाता है । इस देश में विदेशी मुद्रा का सबसे बड़ा स्रोत पर्यटन है और यह देश चीनी का निर्यात करता है ।

फिजी अपनी खूबसूरती की वजह से पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है और बहुत ज्यादा तादाद में पर्यटक यहां पर घूमने और प्रकृति का आनंद लेने के लिए आते रहते हैं । ब्रिटेन ने 1874 में इस देश पर अपना उपनिवेश बनाया था और यहां पर भारतीय मजदूरों को 5 साल के कांट्रेक्ट पर गन्ने की खेती करने के लिए ले गया था ।

Fiji airport
Fiji airport

उन लोगों के सामने शर्त रखी थी कि कांट्रैक्ट पूरा हो जाने के बाद अगर वे चाहें तो वे यहां से जा सकते हैं लेकिन उन्हें अपने खर्चे पर जाना होगा । तब बहोत सारे मजदूरों ने ये निर्णय लिया की वापस लौटना उचित नहीं होगा और1920 से 1930 के बिच हजारो  मजदूर वहीँ बस गए ।अगर बात करें फिजी द्वीप समूहों की तो वहां पर कुल 322 द्वीप है जहां पर 106 द्वीप तो ऐसे हैं जहां पर स्थाई रूप से लोग बसे हुए हैं लेकिन इसके मात्र दो ही द्वीप पर इस देश की 87% जनसंख्या रहती है ।

फिजी के ज्यादातर द्वीपों पर करोड़ों साल पहले ज्वालामुखी विस्फोट हुआ था और अब भी यहां कई ऐसे द्वीप है जहां पर ज्वालामुखी विस्फोट होते रहते हैं । इसलिए लोग उन द्वीपों पर स्थाई तोर पर नहीं बसते हैं ।यहां पर बड़ी संख्या में भारतीयों की तादाद होने की वजह से यहां पर कई सारे हिंदू मंदिर भी हैं और भारत की तरह ही फिजी में भी रामनवमी, होली और दिवाली के त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाते है । तो आप भी कभी इस मिनी हिंदुस्तान को देखने का प्लान कर घूम आइये ।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

आइए जानते हैं भारतीय संविधान की मूल प्रति क्यों रखी गई है गैस चेंबर में

26 जनवरी 2021 को भारत अपना 72 वाँ Republic Day ( गणतंत्र दिवस ) मनाने जा रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत...

खांसी की समस्या को दूर करने के लिए इस तरह भाप में संतरा पका कर खाएं

खांसी की समस्या सर्दी के मौसम में बच्चे, बूढ़े, बड़े सब को परेशान करती है। लगातार खांसी की वजह से गले में दर्द और...

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...

आंखों की थकावट और सूजन को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

जब बहुत ज्यादा देर तक जब सोने के बाद सुबह सो कर उठे हैं तो अक्सर हमारी आंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर...