अपनी संप्रभुता और सुरक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है भारत
राजनीति

भारत का चीन को जवाब : अपनी संप्रभुता और सुरक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है भारत

मालूम हो कि इन दिनों भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों के बीच झड़प होने की खबर आई थी। इस वजह से सीमा पर तनातनी है।  इसी बीच भारत के विदेश मंत्रालय के द्वारा चीन को चेतावनी दी गई है कि भारत अपनी संप्रभुता और सुरक्षा एवं  स्वतंत्रता की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है और सक्षम भी है । भारतीय सैनिक अपनी सीमा को जानते हैं और चीनी सैनिक भारतीय सैनिकों को गश्त करने में बाधा डालने का काम कर रहे हैं ।

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि सीमा की सुरक्षा के लिए सैनिक पूरी तरीके से निर्धारित कार्यक्रम का ही पालन कर रहे हैं, लेकिन एलओसी पर एलओसी के पास से की जा रही गतिविधियां सही नहीं है । भारत सीमा पर शांति बरकरार रखना चाहता है । दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो भी नोकझोंक हुई है इसके लिए दोनों देश के राजनयिक एक दूसरे से वार्तालाप कर रहे हैं ।

मालूम हो कि अक्सर ही भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव होता रहता है । इस बार भारत सरकार 5 और 9 मई को चीनी सैनिकों के भारतीय सीमा में लद्दाख और सिक्किम के उत्तरी क्षेत्र में प्रवेश को गंभीरता से ले लिया है । मालूम हो कि भारत और चीन के सैनिकों के बीच हो रही झड़पों के बीच भारत और चीन दोनों ही देशो ने सीमा पर अपने सैनिकों की संख्या को बढ़ा दिया है जिससे भारत ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह अपने एकता और अखंडता से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करेगा ।

यह भी पढ़ें :  भारत और चीन के बीच आने वाले भविष्य में छिड़ेगी वर्चस्व की जंग !

मालूम हो कि पूर्वी लद्दाख में एलओसी पर भारतीय सैनिक सड़क बना रहे हैं जिससे चीन बौखलाहट में है । इस बारे में अमेरिका के वरिष्ठ राजनयिक एलिस जी वेल्स ने भी कहा कि चीन भारतीय सीमा पर आक्रामक रुख अपना रहा है। चीन के झूठे बयानों से सारी दुनिया वाकिफ है । भारत ने आज तक कभी भी किसी दूसरे देश पर हमला नहीं किया है ।

indian army 1

भारत हमेशा से शांति कायम करने के पक्ष में रहा है । लेकिन सारी दुनिया जानती है कि 1962 में चीन ने भारत पर आक्रमण किया था और अभी हाल में ही मई में भी भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हाथापाई की घटना हुई थी । 2017 में भी डोकलाम के मुद्दे पर भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने थे और बाद में यह मामला बातचीत के जरिए सुलझाया गया था। बता दे चीन अक्साई चीन के इलाकों पर अपना कब्जा जमाए हुए हैं और वहीं पर अपने सैनिकों का जमावड़ा भी करता रहता है ।

यह भी पढ़ें : चीन को घेरने के लिए भारत समेत सात बड़े देश साथ आये

जवाब में भारतीय सेना की तरफ से भी उत्तरी कमान के सैनिकों की संख्या बढ़ा दी गई । भारत लगातार सियाचिन, पूर्वी लद्दाख में अपनी बढ़त बना रहा है और यही वजह से चीन भारतीयों को परेशान करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ता है ।इन दिनों चीन के सामने कोरोना वायरस को लेकर भी चुनौती खड़ी है ।

अमेरिका, भारत  सहित दुनिया के कई देश चीन से कोरोना वायरस की उत्पत्ति से जुड़े सवाल पूछ रहे हैं और चीन पर आरोप लगाया जा रहा है कि उसने समय पर सही जानकारी दुनिया से साझा नहीं की न ही इस वायरस को फैलने से रोकने को दुनिया को आगाह किया ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *