शानदार अभिनेता इरफान खान कैंसर की जंग हार गए, छोड़ गए अपनी यादे

शानदार अभिनेता इरफान खान कैंसर की जंग हार गए, छोड़ गए अपनी यादे

बॉलीवुड और हॉलीबुड के शानदार अभिनेता इरफान खान आज 29 अप्रैल को 53 साल की उम्र में इस दुनिया को छोड़ कर चले गए।  इरफान खान लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उन्हें एक दुर्लभ प्रकार का कैंसर 2018 में होने की बात पता चली थी, जिसके इलाज के लिए वे इंग्लैंड गए थे। वह करीब-करीब ठीक हो गए थे और मुंबई में थे।

पिछले दिन उनकी तबीयत अचानक से खराब होने लगी और उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वहीं पर उन्होंने आज अंतिम सांस ली। बता दे अभी 3 दिन पहले ही इरफान खान की मां का भी इंतकाल हो गया था । इरफान खान अपनी जिंदगी के आखिरी लम्हे तक लड़े और अपनी जिंदगी के आखिरी पल के बारे में उन्होंने कहा कि इस जिंदगी को पहली बार चख रहे हैं ।

इरफान खान के असमय निधन पर बॉलीवुड के कलाकारों के साथ ही पाकिस्तान के फिल्म इंडस्ट्री के कलाकार भी अपनी श्रद्धांजलि और संवेदना प्रकट की है। इरफान खान के शव को मुंबई के वरसोवा कब्रिस्तान में ले जाया गया जहां पर उन्हें सुपुर्द के खाक कर दिया गया। कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन की वजह से किसी भी सेलिब्रिटी को उनके जनाजे में शामिल होने की इजाजत नहीं मिली और मात्र 20 लोग ही इसमें शामिल थे जिसमें उनके बेहद करीबी लोग और परिवार वाले ही थे ।

इरफान के निधन के बारे में सबसे पहले जानकारी डायरेक्टर सुजीत सरकार ने एक ट्विटर में दी और अपने ट्वीट में लिखते हुए कहा कि “मेरे प्यारे दोस्त इरफान तुम लड़े, लड़े और लड़े… मुझे तुम पर गर्व महसूस होगा, इरफान खान तुम्हें सलाम।

उसके बाद ऑफिशियल बयान भी इरफान खान के निधन को लेकर आया जिसमें इरफान खान के ही एक बात को कहा गया था ‘मुझे यकीन है कि मैं सरेंडर कर चुका हूं’ दरअसल यह बात इरफान खान ने 2018 में अपनी कैंसर की लड़ाई की शुरुआत में की थी। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर ने भी ट्वीट करके श्रद्धांजलि दी। मालूम हो कि इरफान खान ने अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत एक इंटरनेशनल फिल्म के जरिए की थी ।

इरफान खान की डेब्यू फिल्म सलाम बम्बे थी जिसे ऑस्कर अवार्ड के लिए भी नॉमिनेट किया गया था। इरफान खान की आखिरी फिल्म “अंग्रेजी मीडियम” है। इसे अभी मार्च में ही रिलीज किया गया था लेकिन बीमारी की वजह से इरफान खान इस फिल्म के प्रमोशन नहीं कर पाए थे।

मालूम हो कि इरफान खान बचपन में क्रिकेटर बनना चाहते थे लेकिन उनके पिता उन्हें क्रिकेटर नहीं बनाना चाहते थे। इसलिए उन्होंने बाद में नेशनल स्कूल आफ ड्रामा में प्रवेश ले लिया और अपने आपको एक बेहतरीन अभिनेता के रूप में बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में भी स्थापित किया।

अगर बात इमरान इरफान खान की कुछ बेहतरीन बॉलीवुड फिल्मों की करें तो इसमें पांच प्रमुख फिल्में पान सिंह तोमर, लंच बॉक्स, हिंदी मीडियम, लाइफ इन मेट्रो, हासिल, और हाल में ही रिलीज हुई आखिरी फ़िल्म अंग्रेजी मीडियम भी शामिल है । बता दें  इरफान खान को पान सिंह तोमर के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला था ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *