“केरल एक्सप्रेस” यानी कि श्री संत 7 साल के बैन के बाद वापसी के लिए बेकरार

केरल एक्सप्रेस

केरल एक्सप्रेस

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज श्रीसंत को “केरल एक्सप्रेस” के नाम से भी जाना जाता है। श्रीसंत पर कथित तौर से स्पॉट फिक्सिंग के लिए 7 साल का बैन लगाया गया था जो कि आज खत्म हो रहा है।

बता दें कि श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था लेकिन इस फैसले की उन्होंने कानूनी लड़ाई लड़ी और बाद में यह आजीवन प्रतिबंध के बजाय 7 साल के प्रतिबंध में बदल दिया गया।

37 वर्षीय श्रीसंत अपने कैरियर पर लगे बैन को खत्म होने के बाद कम से कम घरेलू क्रिकेट कैरियर में दोबारा से लौटने का इरादा कर रहे हैं। वहीं घरेलू राज्य केरल ने भी दावा किया है कि अगर श्रीसंत अपनी फिटनेस साबित कर देते हैं तब उन्हें घरेलू क्रिकेट में शामिल करने पर विचार किया जाएगा।

बता दें कि श्रीसंत ने प्रतिबंध समाप्त होने के कुछ दिन पहले शुक्रवार को ट्वीट किया और कहा कि “मैं अब किसी भी तरह के आरोप से पूरी तरह मुक्त हूँ और अब उस खेल का प्रतिनिधित्व करूंगा जो मुझे सबसे अधिक पसंद है।

यह भी पढ़ें : धोनी के अचानक संन्यास लेने के फैसले के पीछे कि वजह

मैं प्रत्येक गेंद पर अपना सर्वश्रेष्ठ देने का  प्रयास करना चाहूंगा फिर चाहे वह अभ्यास ही क्यों न हो, मेरे पास अधिकतम 5 से 7 साल ही अब बचा है, जिसे मै जिस भी टीम की ओर से खेलूंगा उसमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा।

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते इन दिनों भारतीय घरेलू सत्र स्थगित हो गए हैं। अब आज जब श्रीसंत पर सात साल का बैन भी समाप्त हो जाएगा, तब यह देखा जाएगा कि केरल उन्हें कब मौका देता है और वह किस तरह से क्रिकेट में वापसी करते हैं।

सामान्य तौर से भारत में घरेलू सत्र अगस्त महीने से शुरू हो जाता है लेकिन इस साल कोरोना वायरस महामारी के चलते पूरा कार्यक्रम अस्त-व्यस्त हो गया है।

बता दें कि श्रीसंत पर आईपीएल 2013 के सत्र में स्पॉट फिक्सिंग के लिए आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन पिछले साल भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लोकपाल ने श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को घटाकर 7 साल कर दिया था।

बता दें कि श्रीसंत दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज है और अपनी तेज गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं और आईपीएल में केरल के लिए खेलते हैं।

यह भी पढ़ें : रैना का खुलासा सन्यास के बाद धोनी खूब रोये फिर देर रात तक पार्टी की

श्रीसंत ने भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से अंतराष्ट्रीय टेस्ट मैच में 1 मार्च 2006 को इंग्लैंड के खिलाफ डेब्यू किया था और अपना आखिरी मैच इंग्लैंड के ही खिलाफ 13 अगस्त 2011 को खेला था।

टेस्ट मैच से पहले श्रीसंत ने वनडे मैच में डेब्यू किया था श्रीसंत ने श्रीलंका के खिलाफ 25 अक्टूबर 2005 को डेब्यू किया था और अपना आखिरी मैच भी श्रीलंका के खिलाफ 2 अप्रैल 2011 को खेला था।

श्रीसंत ने अपने डेब्यू मैच में ही नई गेद से श्रीलंका के खिलाफ़ बेहतरीन गेंदबाजी की थी और कुमार संगकारा और सनत जयसूर्या जैसे बल्लेबाजों को आउट किया था।

श्रीसंत ने 2007 में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप में भी भारतीय टीम का हिस्सा रहे थे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में खेला भी था लेकिन इस टूर्नामेंट में उन्होंने कोई खास प्रदर्शन नही किया।

श्रीसंत ने 2007 के टी 20 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में भी भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं और पाकिस्तान की पारी को समाप्त करने वाले श्रीसंत ही थे। श्री संत के विकेट लेने के साथ टी 20 वर्ल्ड कप 2007 का विजेता भारत बना था और उस वक्त श्री संत