आइये जाने मूड स्विंग से निपटने के सामान्य उपाय

आइये जाने मूड स्विंग से निपटने के सामान्य उपाय

इन दिनों देखा जा रहा है की बहुत सारे लोगों में  चिड़चिड़ापन आ गया है । लोगो को छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आता है और बिना वजह ही तनाव महसूस होता है । रह रह कर मूड खराब होने की बात को मूड स्विंग कहा जाता है । दरअसल लाइफस्टाइल में बदलाव की वजह से भी ऐसा होता है । कोरोना वायरस के चलते ही लॉक डाउन कर दिया है जिसकी वजह से लोगों की दिनचर्या और लाइफस्टाइल में काफी ज्यादा बदलाव आ गया है । लॉक डाउन की वजह से लोग अपने घरों में कैद है और कहीं भी आ जा नहीं पा रहे हैं ।

दिन भर घर में रहने की वजह से हर उम्र के व्यक्ति में चिड़चिड़ापन देखने को मिल रहा है । इस चिड़चिडेपन और मूड स्विंग से निपटने के लिए कुछ सामान्य उपाय करके इनसे बचा जा सकता है । इसके लिए बहुत ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं है, घर के अंदर ही आराम से कर सकते है ।

क्या है मूड स्विंग :-

मूड स्विंग एक तरह के साइकोलॉजिकल  डिसऑर्डर को कहते हैं । इसकी वजह से दिमाग में एक विशेष प्रकार के रसायन में असंतुलन हो जाता है जिसकी वजह से मूड स्विग की स्थिति में कभी-कभी इंसान बहुत खुश महसूस करता है तो कभी-कभी बेहद निराश हो जाता है । इस तरह से बार-बार मूड बदलने को ही मूड स्विंग कहते हैं ।

यह शरीर में थायराइड के असंतुलन की वजह से तथा हमारे रक्त में मौजूद एक हार्मोन जिसे कार्टिसोल के नाम से जानते है, की वजह से होता है । इस हार्मोन को स्ट्रेस बढ़ाने के लिए जिम्मेदार माना जाता है । बायोलॉजिकल डिसऑर्डर हर उम्र के लोगों में देखने को मिलता है ।

इससे बचने के उपाय :-

मूड स्विंग से बचने के लिए कुछ गतिविधियों को घर पर ही किया जा सकता है जैसे –

योगा और एक्सरसाइज :-

बदलती हुई लाइफस्टाइल में अपनी दिनचर्या में योग और ध्यान को शामिल करना वक्त की जरूरत है । इससे मन को शांति मिलती है और शरीर में ब्लड सरकुलेशन भी अच्छा रहता है । योग और एक्सरसाइज फेफड़े को मजबूत करने का काम करते हैं । मूड स्विंग और तनाव की समस्या से निपटने के लिए को पुश अप, एरोबिक्स और जंपिंग स्क्वाट किया जा सकता है । इन एक्सरसाइज से वजन को भी नियंत्रित किया जा सकता है ।

पानी पीना :- अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर में से टॉक्सिन को निकालने के लिए रोजाना आठ से दस गिलास तक पानी पीना अच्छा माना जाता है और ऐसा करने से शरीर हाइड्रेट भी रहता है और मस्तिष्क में ब्लड सरकुलेशन अच्छी प्रकार से होता है । शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी होने से एनर्जी लेवल भी बेहतर रहता है ।

पौष्टिक आहार भोजन में पौष्टिक आहार लेना बेहद जरूरी होता है । इसके लिए सुबह-सुबह केला खाया जा सकता है । इसके अलावा विटामिन सी से भरपूर सब्जियां और फल जैसे नारंगी, लीची, नींबू, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि का सेवन किया जा सकता है । दूध वाली चाय की जगह पर अगर हर्बल टी का इस्तेमाल किया जाए तो यह काफी अच्छा होता है । अपने भोजन में फाइबर युक्त चीजों को शामिल करना अच्छा रहता है । खानपान की चीजों का ध्यान रखने से मूड स्विंग को दूर किया जा सकता है ।

संगीत सुनाना – संगीत सुनने से मूड अपने आप ही अच्छा जाता है और अगर आपको गाने या डांस करने का शौक हो तो इसे भी किया जा सकता है । इससे तनाव को दूर करने में मदद मिलती है । वैसे भी अक्सर देखा जाता है कि जब उदास मूड में संगीत सुनने से इंसान काफी बेहतर महसूस करता है और मूड ठीक करने में मदद मिलती है ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *