8 C
Delhi
Saturday, January 16, 2021

LAC पर शांति समझौता करने के बावजूद हर बार चीन ने किया है विश्वासघात

Must read

सुबह के समय नाश्ते में Chocolate खाना है Beneficial For Health

चॉकलेट खाना हम सभी को अच्छा लगता है। लेकिन कुछ लोग किसी न किसी कारण से Chocolate खाना बंद कर देते है। लेकिन चॉकलेट...

Food Security में सबसे बड़ा खतरा बन रहा बढ़ता हुआ ऊसर क्षेत्र

हमारे देश में जिस तेजी से ऊसर क्षेत्र बढ़ा रहा है, यह खेती के साथ-साथ Food Security के लिए भी बड़ा संकट उत्पन्न कर...

आइये जाने क्या है बायो बबल (Bio Bubble) का घेरा जिससे खिलाड़ी रहेंगे सुरक्षित

कोरोना वायरस महामारी चीन से शुरू होकर पूरी दुनिया को दहशत में डाले है। मार्च से इसका प्रकोप बढ़ने लगा और यह लगातार वक्त...

सोने और चांदी से भी ज्यादा कीमती क्यों होता है व्हेल मछली की उल्टी

जैसा कि दुनिया में सभी जानते हैं सोना, चांदी और हीरा बहुमूल्य चीजें है। लेकिन बहुत कम ही लोगों को मालूम होगा कि सोना...

इन दिनों LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव बरकरार है। भारत के लद्दाख से लगती चीन की सीमा पर चीन की लिबरेशन आर्मी तैनात है। बता दें कि चीन और भारत के सैनिकों के बीच जून 2020 को झड़प हुई थी। तब से सीमा पर तनाव दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है।

एलएसी पर इस तनाव को कम करने की कोशिश में अभी चीन के विदेश मंत्री के कहने पर चीन के गृहमंत्री और भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मुलाकात हुई थी जिसमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने चीन को चेताया की सीमा की रक्षा के लिए भारतीय सैनिक किसी भी हद तक जा सकते हैं।

इसके बाद मास्को में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग ये के बीच करीब ढाई घंटे तक द्विपक्षीय वार्ता हुई। इसके बाद दोनों मंत्रियों ने एक साझा बयान दिया और कहा कि शांति के बहाली के उपायों को मजबूती दी जाएगी।

यह भी पढ़ें : आइए जानते हैं मलक्का जलसंधि के बारे में, जो चीन की दुखती रग है

बता दें कि मास्को में यह बैठक शंघाई सहयोग संगठन के इतर हुई है। इस दौरान दोनों देशों के बीच पांच सूत्री समझौते भी हुए हैं और दोनों देशों की तरफ से हस्ताक्षर किये गए हैं। लेकिन चीन इन समझौतों पर कितना खरा उतरेगा यह तो वक्त बताएगा..!

चीन पर इसलिए संदेह किया जा रहा है क्योंकि चीन सीमा पर शांति कायम करने के लिए इसके पहले भी भारत के साथ समझौते किए हैं। लेकिन हमेशा से चीन की कथनी और करनी में फर्क रहा है।

बता दें कि 1993 में एलएसी पर शांति और स्थिरता के लिए भारत और चीन के बीच समझौता हुआ था, जिसमें साफ तौर से कहा गया था कि दोनों देश के सेना के जवान यदि एलएसी को पार करते हैं तब दूसरे देश के सेना के जवान उन्हें आगाह करेंगे और इसके बाद वे शांति पूर्वक अपने क्षेत्र में वापस चले जाएंगे।

china

लेकिन चीन इस बात का हमेशा उल्लंघन करता रहा है और बार-बार सीमा पर अतिक्रमण की कोशिश में लगा रहता है। 1993 के बाद 1996 में भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी कि एलएसी पर फिर से क्षेत्र में विश्वास निर्माण के उपायों को लेकर समझौते किये गए।

लेकिन चीन कभी भी इन समझौतों पर खरा नही उतरा और छल – कपट के जरिये सीमा पर अतिक्रमण की कोशिश में लगा रहा।

यह भी पढ़ें : दक्षिण चीन सागर में चीन को ले कर कई देश हुए लामबंद आइए जानते हैं दक्षिण चीन सागर के बारे में विस्तार से

इसके बाद 2005 और 2012 में भी चीन के साथ सीमा विवाद बढ़ा। साल 2013 में भी सीमा पर तनाव को कम करने के लिए फिर से दोनों देशों के बीच समझौते हुये। लेकिन जहाँ भारत ने सभी समझौतों का बखूबी पालन किया तो चीन अपनी चालबाजी करता रहा और हर बार समझौते का उल्लंघन किया।

15-16 जून को दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई और इसमें करीब 20 भारतीय जवान शहीद हो गये। कहा जाता है कि इसमें चीन के भी 40 जवान शहीद हुए थे हालांकि चीन ने कभी भी इसे कुबूल नही किया।

इसके बाद चीन लगातार सीमा पर भारतीय सैनिकों को डराने और धमकाने के लिए हवाई फायरिंग करता रहता है। इस तरह से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है।

अब दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच समझौता हुआ है। अब आने वाला वक्त बताएगा कि दोनों देशों की सीमा पर शांति बहाली होती है या फिर तनाव बरकरार रहता है।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

सुबह के समय नाश्ते में Chocolate खाना है Beneficial For Health

चॉकलेट खाना हम सभी को अच्छा लगता है। लेकिन कुछ लोग किसी न किसी कारण से Chocolate खाना बंद कर देते है। लेकिन चॉकलेट...

Food Security में सबसे बड़ा खतरा बन रहा बढ़ता हुआ ऊसर क्षेत्र

हमारे देश में जिस तेजी से ऊसर क्षेत्र बढ़ा रहा है, यह खेती के साथ-साथ Food Security के लिए भी बड़ा संकट उत्पन्न कर...

आइये जाने क्या है बायो बबल (Bio Bubble) का घेरा जिससे खिलाड़ी रहेंगे सुरक्षित

कोरोना वायरस महामारी चीन से शुरू होकर पूरी दुनिया को दहशत में डाले है। मार्च से इसका प्रकोप बढ़ने लगा और यह लगातार वक्त...

सोने और चांदी से भी ज्यादा कीमती क्यों होता है व्हेल मछली की उल्टी

जैसा कि दुनिया में सभी जानते हैं सोना, चांदी और हीरा बहुमूल्य चीजें है। लेकिन बहुत कम ही लोगों को मालूम होगा कि सोना...

जमीन धंसने से भारत समेत दुनिया के कई देशों के लोगों पर मंडरा रहा है खतरा

पृथ्वी पर मानव का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है, जिसका खामियाजा मानव को ही भुगतना पड़ेगा। अभी हाल मे ही एक नए शोध...