रणवीर सिंह को अपनी दादी चाँद बर्क से ये चीज मिली विरासत में

रणवीर सिंह को अपनी दादी चाँद बर्क से ये चीज मिली विरासत में

रणवीर सिंह को अपनी दादी चाँद बर्क से ये चीज मिली विरासत में

अभिनेता रणवीर सिंह में गजब की मर्जी है और हर कोई उनके एनर्जी का राज जाना चाहता है कि आखिर उनके अंदर इतनी एनर्जी कैसे हैं ? लेकिन आज तक किसी को भी यह बात नहीं पता चल पाया कि उनके के एनर्जी का क्या राज है ? आइए जानते हैं रणवीर सिंह के एनर्जी के पीछे के राज के बारे में । दरअसल रणबीर सिंह के अंदर चुस्ती, फुर्ती, हाजिरजवाबी और एनर्जी उन्हें उनकी दादी चाँद बर्क से विरासत में मिली है ।

रणवीर सिंह की दादी चाँद बर्क अपने जमाने में टॉप अभिनेत्रियों में गिनी जाती थी । मालूम हो कि इनकी दादी का जन्म 2 फरवरी 1932 को पाकिस्तान में हुआ था और ये क्रिश्चन  परिवार में जन्मी 12 भाई बहनों में सबसे छोटी थी ।रणवीर सिंह अपनी दादी की ही तरह होशियार और चतुर हैं ।

इनके दादी भी पढ़ाई हो, कामकाज हो या फिर कला, संस्कृति हर क्षेत्र में बेहद होशियार थी । रणवीर की दादी चांद बर्क ने फिल्मों में अभिनय एक पंजाबी फिल्म में 1946 में किया था और जल्दी ही वह पंजाबी सिनेमा की मशहूर अभिनेत्री बन गई थी । तब वह अपने डांस के लिए जानी जाती थी जिसकी वजह से उनका नाम भी ‘डांसिंग लिली ऑफ पंजाब’ पड़ गया था । चाँद बर्क को बॉलीवुड सिनेमा में राज कपूर ने लाया था और ‘बूट पॉलिश’ फिल्म के जरिए बॉलीवुड में चाँद बर्क ने डेब्यू किया था ।

जब राज कपूर पहली बार चांद बर्क से मिले थे तब वह उनकी बेबाकी के कायल हो गए थे ।जब उन्होंने चाँद बर्क से उनके परिवार के बारे में पूछा तब उन्होंने जवाब दिया कि हम 12 भाई बहन हैं और वह अपने भाई बहन में सबसे छोटी हैं । राज कपूर ने जब चांद से पूछा कि उनके पिता क्या काम करते हैं ?

तो इसका जवाब चाँद बर्क ने बड़ी बेबाकी से साथ देते हुए कहा कि अपने ढेर सारे बच्चों की परवरिश बस । उसके बाद राज कपूर ने चांद बर्क को अपने फ़िल्म के लिए साइन कर लिया और उनकी पहली फिल्म 1954 में ‘बूट पॉलिश’ आई जिसमें उन्होंने एक बिल्कुल बिंदास, बेबाक, कैंची की तरह जुबान चलने वाली औरत का किरदार निभाया है ।

चाँद बर्क ने 1957 में आर्किटेक बिजनेसमैन सुंदर सिंह भावनानी के साथ विवाह के बंधन में बंध गई । उन्हें बेटा जगजीत सिंह और बेटी है । चांद बर्क की बेटी यानी रणबीर की बुआ इस समय अमेरिका में है और उनके बेटे जगजीत सिंह यानी के रणवीर सिंह के पिता मुंबई में हैं । चांद बर्क चाहती थी कि उनका बेटा जगजीत सिंह अभिनेता बने, लेकिन वह अपने पिता की तरह बहुत बड़े बिजनेसमैन बन गए ।

यह भी पढ़ें :  प्यार में घोखा खाई दीपिका की रणवीर सिंह के साथ लव स्टोरी ऐसे हुई थी शुरू

जब रणबीर सिंह का जन्म हुआ तो चाँद बर्क को अपने पोते से बड़ी उम्मीद थी कि उनका पोता उनका सपना पूरा करेगा और आज रणबीर सिंह बॉलीवुड के सर्वश्रेष्ठ अभिनेताओं में गिने जाते हैं ।रणबीर सिंह की दादी का एक डायलॉग था “जो हमारे पास नहीं है वह ख्वाब है और जो हमारे पास है वह लाजवाब है”

आज बॉलीवुड में रणवीर सिंह की एक अलग पहचान है, वह एक बेहद एनर्जेटिक और अपने अलग अंदाज के लिए जाने जाते हैं अगर उनकी दादी से उनकी तुलना की जाए तो वो वास्तव में अपनी दादी के ही तरह है और अपने दादी के सपने को एक अभिनेता बन कर उन्होंने सच कर दिया है ।