17.1 C
Delhi
Tuesday, January 26, 2021

महेंद्र सिंह धौनी के साथ सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया सन्यास

Must read

National Film Award लेते समय अभिनेत्री Kangana Ranaut के पास महंगे कपड़े खरीदने के लिए पैसे न होने पर उन्होंने खुद से डिजाइन की...

बॉलीवुड में अभिनेत्री Kangana Ranaut अपनी बेबाक राय के लिए जानी जाती हैं। अभिनेत्री कंगना रनौत को फिल्म "फैशन" के लिए national award से...

आइए जानते हैं भारतीय संविधान की मूल प्रति क्यों रखी गई है गैस चेंबर में

26 जनवरी 2021 को भारत अपना 72 वाँ Republic Day ( गणतंत्र दिवस ) मनाने जा रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत...

खांसी की समस्या को दूर करने के लिए इस तरह भाप में संतरा पका कर खाएं

खांसी की समस्या सर्दी के मौसम में बच्चे, बूढ़े, बड़े सब को परेशान करती है। लगातार खांसी की वजह से गले में दर्द और...

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया। क्रिकेट के फैंस को जोर का झटका देते हुये धोनी के साथ ही बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का घोषणा कर दी। बता दे कि धौनी और सुरेश रैना अच्छे दोस्त भी हैं।

भारतीय क्रिकेट में धोनी और सुरेश रैना की जोड़ी को जय और वीरू की जोड़ी की संज्ञा दी जाती थी। धोनी की तरह कीबाएँ हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना के नाम भी कई रिकॉर्ड दर्ज है। सुरेश रैना बाएं हाथ के बल्लेबाज थे और अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी और फील्डिंग के लिए जाने जाते थे।

सुरेश रैना के नाम विश्व कप में भी रिकॉर्ड दर्ज है। भारतीय टीम की तरफ से सुरेश रैना पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने विश्व कप मुकाबले में शतक जड़ा है। हर बल्लेबाज अपने विशेष खेल के लिए जाना जाता है। अक्सर बात होती है विश्वकप 2011 के दूसरे क्वार्टर फाइनल मुकाबले की, यह मैच अहमदाबाद के मोटेरा मैदान पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहा था।

ऑस्ट्रेलियाई टीम के तेज बल्लेबाज ब्रेट ली की तूफानी गेंद को भारतीय टीम के बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना ने सीधा लॉन्ग ड्राइव के ऊपर से बाउंड्री के बाहर कर दिया था। सुरेश रैना का विश्व कप का यह छक्का और शतक का रन बनाने का किस्सा हमेशा से चर्चा का विषय रहा है।

विश्वकप में वैसे तो कई बल्लेबाजों की खेल की  चर्चा अक्सर होती हैं – जैसे कि वीरेंद्र सहवाग का पाकिस्तान के खिलाफ एक ओवर में पांच चौके लगाना,कप्तान के रूप में महेंद्र सिंह धोनी का विश्व कप के फाइनल मुकाबले में विश्व विजयी वाला छक्का तो मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरी बनाना, इन सब के साथ सुरेश रैना का ब्रेटली की गेंद पर बनाया गया छक्का भारतीय क्रिकेट के फैंस को हमेशा याद रहेगा।

सुरेश रैना को भारतीय टीम में मिस्टर भरोसेमंद के नाम से जाना जाता था और आज कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ ही सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है।

सुरेश रैना ने राहुल द्रविड़ की कप्तानी में वनडे मैच से डेब्यू किया था। सुरेश रैना भारतीय टीम में एक खब्बू बल्लेबाज तौर पर जाने जाते हैं, जो कि अपना घुटनो को क्रीज पर टिका कर गेंद को सीधे बाउंड्री पार भेज देता था।

सुरेश रैना के पिता कश्मीर के रहने वाले थे और माता हिमांचल प्रदेश की, लेकिन कुछ परेशानियों के चलते सुरेश रैना का परिवार कश्मीर को छोड़कर दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में मुरादनगर में रहने लगा था।

यह भी पढ़ें : जानिए गॉड गिफ्टेड से हिटमैन तक कैसा रहा रोहित का सफर

यही पर सुरेश रैना का जन्म हुआ। सुरेश रैना ने भारतीय टीम में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में वनडे मैच के जरिए साल 2005 में डेब्यू किया था और अगले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना पहला टी-20 डेब्यू मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था और 5 साल बाद साल 2010 में श्रीलंका के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था।

सुरेश रैना भारतीय टीम के ऐसे पहले खिलाड़ी हैं जिन्हें क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट वनडे, टेस्ट और टी-20 में शतक लगाया है। हालांकि अब इस लिस्ट में रोहित शर्मा का नाम भी जुड़ गया है।

सुरेश रैना ने साल 2010 के बाद से ही बेहतरीन प्रदर्शन किया और खूब रन बनाकर भारतीय टीम को ज्यादातर मैचों में जीत दिलाई। सुरेश रैना को उनके बेहतरीन बल्लेबाजी के कौशल और मैच जिताऊ होने की वजह से भारतीय क्रिकेट के फैंस उन्हें मिस्टर भरोसेमंद भी कहने लगे थे।

S. Raina

 

एक वक्त था जब सुरेश रैना की तुलना मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से होने लगी थी। सुरेश रैना ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 18 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें 26.48 के औसत से कुल 768 रन बनाए हैं। सुरेश रैना ने कुल 226 अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेले हैं जिसमें 35.41 की औसत से 5615 रन और अंतरराष्ट्रीय टी- 20 में 78 मैचों में कुल 1675 रन बनाए हैं। बात आईपीएल की करे तो आईपीएल में सुरेश रैना के नाम एक रिकार्ड दर्ज है।

सुरेश रैना पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने आईपीएल में 3000 रन का आंकड़ा सबसे पहले छुआ था। इसके अलावा सुरेश रैना के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज है – सुरेश रैना एकलौते ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं जिन्होंने वनडे वर्ल्ड कप और टी- 20 वर्ल्ड कप में भारत की तरफ से सेंचुरी बनाई है।

यह भी पढ़ें : विराट कोहली ने खुलासा किया कि ईगो की वजह से विश्व कप सेमीफाइनल में मिली हार

सुरेश रैना ने भारतीय टीम के कप्तान भी रह चुके हैं। रैना ने सबसे कम उम्र के भारतीय टीम की कप्तानी की थी। रैना ने सबसे पहले कप्तानी जिंबाब्वे के खिलाफ मात्र 23 साल 197 दिन की उम्र ने की थी। धोनी किसी तरह रैना की अगुवाई में भी भारतीय टीम ने कई मैच जीते हैं।

रैना फुर्ती के साथ फील्डिंग के लिए पहचाने जाते थे। मैदान पर कुर्ती के साथ रन आउट करके रैना मैच का रुख पलट देते थे। आईपीएल मुकाबले में सुरेश रैना चेन्नई सुपर किंग्स के पॉपुलर चेहरे में से एक हैं।

सुरेश रैना का असली खेल टी-20 के फॉर्मेट में निखर कर सामने आया है। शायद इसलिए सुरेश रैना को मिस्टर आईपीएल की उपाधि भी फैंस द्वारा मिली है।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

National Film Award लेते समय अभिनेत्री Kangana Ranaut के पास महंगे कपड़े खरीदने के लिए पैसे न होने पर उन्होंने खुद से डिजाइन की...

बॉलीवुड में अभिनेत्री Kangana Ranaut अपनी बेबाक राय के लिए जानी जाती हैं। अभिनेत्री कंगना रनौत को फिल्म "फैशन" के लिए national award से...

आइए जानते हैं भारतीय संविधान की मूल प्रति क्यों रखी गई है गैस चेंबर में

26 जनवरी 2021 को भारत अपना 72 वाँ Republic Day ( गणतंत्र दिवस ) मनाने जा रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत...

खांसी की समस्या को दूर करने के लिए इस तरह भाप में संतरा पका कर खाएं

खांसी की समस्या सर्दी के मौसम में बच्चे, बूढ़े, बड़े सब को परेशान करती है। लगातार खांसी की वजह से गले में दर्द और...

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही...

आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

हम सब ज्यादातर सड़क मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने सड़क पर सफेद और पीले रंग की पार्टियों को देखा...