कमजोर इम्यून सिस्टम के ये लक्षण

आइये जाने कमजोर इम्यून सिस्टम के ये लक्षण

कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए मजबूत इम्यून सिस्टम जरूरी है । ऐसे में हर कोई अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत कर रहा है जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके । मजबूत इम्यून सिस्टम वाले कोरोना वायरस के संक्रमण को मात देने में कामयाब हो रहे हैं ।

लेकिन जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उन लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित होने का खतरा सबसे अधिक पाया जाता है । एक शोध के मुताबिक करीब 80 तरह की बीमारियां सिर्फ कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से होती हैं ।

चलिए कुछ लक्षणों के जरिए जानते हैं कि कहीं आपका इम्यून सिस्टम कमजोर तो नहीं :-

हाथ पैर ठंडा होना :-

जिन लोगों के हाथ और पैर अक्सर ठंडे रहते हैं यह कमजोर इम्यूनिटी की निशानी है । उनकी रक्त वाहिकाओं में सूजन की समस्या रहती है तो उनके हाथ और पैर की उंगलियों में तथा कान और नाक को गर्म रखने में मुश्किल होती है और जब ये अंग ठंड के संपर्क में ही ठंढे हो जाते हैं । तब शरीर के इन अंगों की त्वचा सफेद या फिर नीली पड़ने लगती है । यह खराब सिस्टम का लक्षण है ।

हल्का बुखार :-

अक्सर कुछ लोगों में देखा जाता है कि उनके शरीर का तापमान सामान्य से थोड़ा अधिक रहता है । सामान्य से अधिक तापमान इस बात का संकेत है कि आने वाले समय में कोई भी संक्रमण उन्हें जल्दी से हो सकता है । साथ ही ऐसे लोगों में सिर दर्द की समस्या भी देखी जाती है । शरीर की त्वचा कैसे दिखती है और त्वचा कैसा महसूस करती है इस सब के जरिए इस बात का पता चलता है कि इम्यून सिस्टम कैसे काम कर रहा है ।

थकान :-

कोई भी फ्लू का संक्रमण होने पर जिस तरह से थकान महसूस होती है अगर ऐसी थकान का कुछ संकेत शरीर दे रहा है तब यह भी इस बात का संकेत है कि इम्यून सिस्टम कमजोर है । इम्यून सिस्टम कमजोर होने से जोडो में तथा मांसपेशियों में दर्द की समस्या देखने को मिलती है।

पाचन की समस्या : –

जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है या फिर 2 से 4 सप्ताह तक या फिर उससे अधिक समय तक डायरिया की शिकायत रहती है या मल त्यागने में कठिनाई हो तो यह सब भी कमजोर इम्यून सिस्टम के लक्षण है । इन लोगों के कमजोर इम्यून सिस्टम होने की वजह से आर्थराइटिस और दिल से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना रहती है । जिन लोगों की आंखें सूखी रहती है या फिर हल्की लाल रहती हैं या उन्हें देखने में धुंधला दिखता है तब भी यह कमजोर इम्युन सिस्टम का लक्षण है ।

जोड़ों का दर्द :-

जब हड्डियों के दो जोड़ो के अंदर की नशे हल्की फूल जाती है यानी कि उसमें सूजन हो जाता है तब जोड़ों की दर्द की समस्या उत्पन्न होती है । यह भी खराब उन्हें सिस्टम का लक्षण है ।

यह भी पढ़ें : कैंसर को मात देने वाली सोनाली बेंद्रे ने सुझाये इम्युनिटी को बढ़ाने के तरीके

बाल झड़ना :-

जिन लोगों के सिर के अलावा चेहरे और शरीर के अन्य हिस्से के बाल झड़ने लगते हैं तो उनके साथ एलोपेसिया एडिटर नाम की बीमारी होने का खतरा रहता है।

सफेद धब्बे :-

जिन लोगों के इम्यून सिस्टम कमजोर होते हैं उनकी त्वचा की वर्णक कोशिकाएं प्रभावित होने लगती है और फिर उनकी त्वचा पर सफेद धब्बे दिखाई देने लगते हैं ।

एक शोध के मुताबिक करीब 80 तरह की बीमारियां सिर्फ कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से होती हैं ।
एक शोध के मुताबिक करीब 80 तरह की बीमारियां सिर्फ कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से होती हैं ।

धूप के प्रति संवेदनशीलता :-

कुछ लोग का शरीर धूप के प्रति काफी संवेदनशील होता है, जिसे ऑटोइम्यून डिसऑर्डर भी कहते हैं । इन लोगों को धूप में रहने से शरीर में छाले और दाने हो जाते हैं । इसके अलावा धूप की वजह से ठंड लगना, सिर में दर्द और उल्टी की समस्या भी देखने को मिलती है ।

हाथ पैर में झनझनाहट :-

खराब इम्यून सिस्टम होने पर शरीर में संक्रमण का हमला होने से रक्त वाहिकाओं पर यह हमला करता है और मांसपेशियों को संकेत भेजता है ।इसकी वजह से हाथ पैर में झनझनाहट या फिर सुन्नपन की समस्या देखने को मिलती है ।

यह भी पढ़ें : खूब हंसने और बोलने से बढ़ती है शरीर की इम्युनिटी : जाने इम्युनिटी बढ़ाने के दिलचस्प तरीके

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *