24.2 C
Delhi
Monday, March 8, 2021

क्या यूपीआई के जरिए होने वाला लेनदेन नए साल (2021) से महंगा हो चुका है?

Must read

क्या होता है Euthanasia, जिसके अधिकार की मांग न्यूजीलैंड के नागरिक कर रहे हैं

हाल के दिनों में न्यूजीलैंड में Euthanasia को लेकर काफी विचार-विमर्श चल रहा है अभी कुछ दिन पहले लोगों ने इसके लिए वोट भी...

अगले 10 सालों में Artificial Sun से रोशन होगी दुनिया आइए जानते हैं इस तकनीक के बारे में

अगर सब कुछ ठीक रहा और काम सही ढंग से चलता रहा तो अगले 10 सालों में धरती Artificial Sun की रोशनी पा सकेगी। मैसाच्युसेट्स...

क्या पैसे से खुशी हासिल की जा सकती है? क्या कहता है शोध

अक्सर हर किसी के मुँह से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि हमें अपनी जिंदगी में बेहद खुश रहना चाहिए। मुश्किलें जिंदगी...

आइए जानते हैं उन देशों के बारे में जहां पेट्रोल की कीमत है पानी के बराबर

हमारे देश में दिन-ब-दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ती जा रही हैं। जिससे आम जनता परेशान हो रही है। कई शहरों में पेट्रोल...

भारत में नोटबंदी के बाद से तेजी से डिजिटल लेनदेन में इजाफा देखने को मिला है। खास करके लॉक डाउन में भारतीयों में डिजिटल पेमेंट तेजी से बढ़ा है।

कोरोना वायरस महामारी के दौरान भारत सरकार और भारत का केंद्रीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए कई तरह से इसे प्रोत्साहित किया है।

साल 2021 में डिजिटल लेनदेन 4 गुना ज्यादा बढ़ जाने की संभावना है। भारत में डिजिटल लेनदेन के लिए ज्यादातर लोग यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस – UPI) का इस्तेमाल कर रहे है।

अभी पिछले कुछ दिनों से ऐसी खबर आ रही है कि नए साल (2021) से यूपीआई(UPI) के जरिए होने वाला लेनदेन महंगा हो जाएगा ।

लोग यह भी कह रहे थे कि यूपीआई के जरिए अगर कोई ग्राहक भुगतान करता है तब उसे अतिरिक्त शुल्क भी देना पड़ेगा, यानी कि अगर कोई व्यक्ति किसी थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल करके यूपीआई के जरिए ऑनलाइन पेमेंट करता है तब उसे इसके लिए कुछ निश्चित धनराशि को शुल्क के रूप में चुकाना होगा, लेकिन हम आपको बता दें यह खबर महज अफवाह है और गलत है।

यूपीआई के जरिए होने वाले लेनदेन पर किसी भी तरह का अतिरिक्त शुल्क नही देना पड़ रहा है।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के माध्यम से पैसे का लेंन देंन बिलकुल फ्री होगा ऐसा नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) का कहना है।

एनपीसीआई अपने बयान में साफ कहा है कि नए साल से यूपीआई के जरिए चाहे पैसा भेजना हो या फिर प्राप्त करना, इस पर किसी भी प्रकार का शुल्क नही लगाया जाएगा, शुल्क लगाए जाने की खबर सरासर गलत है।

बता दें कि साल 2008 में एनपीसीआई का गठन किया गया था जिससे भारत में खुदरा भुगतान और निपटान प्रणाली के लिए विभिन्न संस्थानों को सुविधा प्रदान करने में मदद मिल रही है।

यह भी पढ़ें :ब्रिक्स की New Development Bank कम समय मे अपनी साख बनाने में कामयाब रहा इस तरह कर रहा काम

नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि थर्ड पार्टी ऐप की सेवा देने वाली कंपनियों के भुगतान पर नए साल से 30 फ़ीसदी का कैंप लगाए जाने की बात कही गई है, ऐसा इसलिए किया गया है।

जिससे कोई भी थर्ड पार्टी ऐप के एकाधिकार को रोकने में मदद मिले और यूजर बेस के हिसाब से मिलने वाले विशेष फायदा को रोका जा सके। मतलब कि एनपीसीआई के इस फैसले से यूपीआई ट्रांजैक्शन में किसी भी एक पेमेंट ऐप का एकाधिकार नही रहेगा, बल्कि सभी को बराबर से अधिकार मिलेगा।

यूपीआई क्या है ? :-

यूपीआई का फुल फॉर्म यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस होता है। जिसमें एक अंतर बैंक फंड ट्रांसफर करने की सुविधा मिलती है। इसके जरिए लोग अपने स्मार्टफोन पर मोबाइल नंबर और वर्चुअल आईडी की मदद से पेमेंट कर सकते हैं।

upi payments app

यह इंटरनेट बैंक फंड ट्रांसफर के सिस्टम पर काम करता है और कुछ ही मिनट के अंदर एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसा आसानी से ट्रांसफर हो जाता है। यह बहुत ही यूजर फ्रेंडली है।

एनपीसीआई इस सिस्टम को कंट्रोल कर दी है और यूजर यूपीआई के जरिए बस कुछ ही मिनट में घर बैठे एक जगह से दूसरी जगह बेहद आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

क्या होता है Euthanasia, जिसके अधिकार की मांग न्यूजीलैंड के नागरिक कर रहे हैं

हाल के दिनों में न्यूजीलैंड में Euthanasia को लेकर काफी विचार-विमर्श चल रहा है अभी कुछ दिन पहले लोगों ने इसके लिए वोट भी...

अगले 10 सालों में Artificial Sun से रोशन होगी दुनिया आइए जानते हैं इस तकनीक के बारे में

अगर सब कुछ ठीक रहा और काम सही ढंग से चलता रहा तो अगले 10 सालों में धरती Artificial Sun की रोशनी पा सकेगी। मैसाच्युसेट्स...

क्या पैसे से खुशी हासिल की जा सकती है? क्या कहता है शोध

अक्सर हर किसी के मुँह से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि हमें अपनी जिंदगी में बेहद खुश रहना चाहिए। मुश्किलें जिंदगी...

आइए जानते हैं उन देशों के बारे में जहां पेट्रोल की कीमत है पानी के बराबर

हमारे देश में दिन-ब-दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ती जा रही हैं। जिससे आम जनता परेशान हो रही है। कई शहरों में पेट्रोल...

एंजेलिना जोली ब्रैड पिट से अलग होकर क्यों उससे दूर नहीं जा सकी

ब्रैंजलिना नाम से मशहूर ब्रेंड पिट और एंजेला जोली की ग्लैमरस जोड़ी ने जब अलग होने का फैसला उनके फैंस के लिए एक सदमे...