26.8 C
Delhi
Thursday, March 4, 2021

चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से बनाए इस तरह बेहतरीन खाद Compost

Must read

एंजेलिना जोली ब्रैड पिट से अलग होकर क्यों उससे दूर नहीं जा सकी

ब्रैंजलिना नाम से मशहूर ब्रेंड पिट और एंजेला जोली की ग्लैमरस जोड़ी ने जब अलग होने का फैसला उनके फैंस के लिए एक सदमे...

आइए जानते हैं हमारे Solar System के किस ग्रह को Vacuum Cleaner कहा जाता है

Solar System और ग्रहों की दुनिया अपने आप में बेहद दिलचस्प और अजीब होती है। इसे जितना को समझने की कोशिश की जाती है...

हिमालय की गर्म पानी की धाराओं से निकल रहा है कार्बन डाइऑक्साइड

एक शोध में इस बात का दावा किया गया है कि हिमालय में मौजूद Geothermal spring जियोथर्मल एस्प्रिग (गर्म पानी के सोतों) से बड़ी...

बायो टेररिज्म को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत के पुणे और लखनऊ में BSL-4 लैब बनाई जाएगी

पुणे के बाद अब लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी एंड इनफेक्शन डिजीज के लिए बायोसेफ्टी लैब (BSL-4) की दूसरी...

भारत के लोग Tea पीने के बहुत शौकीन होते हैं। हर दिन हर घर में कम से कम एक बार चाय तो जरूर ही बनती है। हर गली नुक्कड़ पर चाय सर्व करने वाले छोटे बड़े स्टॉल भी देखने को मिल ही जाते हैं।

इससे हम अंदाजा लगा सकते हैं कि चाय बनाने के दौरान कितनी ज्यादा चाय पत्ती का इस्तेमाल किया जाता है और बाद में यह कचरे में चली जाती है।

हालांकि Tea Leaves को बेहद आसानी से डीकंपोज किया जा सकता है। इसलिए अगर लैंडफिल हो भी जाती है तो किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती है।

लेकिन सवाल यह है कि इसका फिर से इस्तेमाल कैसे किया जाए? क्या इसका फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है? तो जवाब है “हां”, चाय पत्ती का इस्तेमाल दोबारा से किया जा सकता है और बहुत अच्छे काम में किया जा सकता है।

 इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती पौधों के लिए फायदेमंद

(Used tea leaves are beneficial for plants ) :-

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में गार्डिंग करने वाले Brahmadev Kumar ( ब्रह्मदेव कुमार ) काफी समय से Tea Leaves की खाद बनाने का काम कर रहे हैं। चाय पत्ती को पेड़ पौधों के लिए पोषण खाद बनाने में इस्तेमाल हो रहा है।

ब्रह्मदेव इस बारे में बताते हैं कि Tea Leaves को इस्तेमाल करके अक्सर लोग फेक देते हैं। लेकिन अगर लोग चाहे तो इससे घर की हरियाली हो कई गुना तक बढ़ाया जा सकता है।

इस्तेमाल की हुई Tea Leaves  में 4% नाइट्रोजन के अलावा पोटैशियम और फास्फोरस भी पाया जाता है। इसमें बहुत से माइक्रोन्यूट्रिएंट भी होते हैं।

अगर इसे पौधे में डाला जाता है तो पौधे को नाइट्रोजन की भरपूर मात्रा मिल जाती है। अगर इसे मिट्टी में मिला दिया जाए तो इसमे लाभदायक माइक्रोऑर्गेनिस्म पनपने लगते हैं।

खाद बनाने में इस्तेमाल( Used tea leaves uses in making fertilizer ):

Used Tea Leaves का दूसरे गीले कचरे के साथ मिलाकर खाद बनाई जा सकती हैं। सिर्फ चाय पत्ती से भी खाद बनाई जा सकती है और इसे बनाने का तरीका बेहद ही आसान है।

Tea Leaves से खाद बनाने के लिए ज्यादा मेहनत की जरूरत नही होती है। बस इसे एक जगह स्टोर करना पड़ता है लेकिन इसका एक तरीका होता है।

इस तरह इस्तेमाल की हुई चायपत्ती से बनाये खाद  ( Making process ):-

इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती से खाद बनाने के लिए इस्तेमाल की हुई चायपत्ती, मिट्टी का घड़ा, ढकने के लिए ढक्कन, घड़े में छेद करने के लिए कोई नुकीली चीज की जरूरत होती है।

प्रक्रिया ( Process ) :-

Brahmadev Kumar बताते हैं कि चाय पत्ती से खाद बनाने के लिए जब हम चाय बनाते हैं तो उससे जो चायपत्ती बचती है उसमें अदरक, तुलसी, इलायची जैसे हार्ब्स भी होते हैं साथ ही दूध और चीनी की भी कुछ मात्रा उसमें रहती है।

इस्तेमाल की हुई चायपत्ती
इस्तेमाल की हुई चायपत्ती

यह पौधे को नुकसान नही पहुंचाते हैं। लेकिन दूध की वजह से इसमें बदबू की समस्या देखने को मिलती है और चीनी की वजह से इसमें चीटियां लगने की समस्या रहती है।

इसलिए दिनभर की इस्तेमाल की हुई चाय की पत्ती को इकट्ठा कर के उसे पानी से धो लें। इसके बाद चायपत्ती से पानी को अच्छी तरीके से निचोड़ दें और इसे एक मिट्टी के घड़े में डाल दें।

वैसे मिट्टी के बर्तन पहले से ही पोरस होते हैं, लेकिन अगर इसमें एक दो छोटे-छोटे छेद बना दिए जाते हैं तो हवा का आवागमन और आसानी से होने लगता है।

इस मिट्टी के बर्तन को ढक्कन से ढक दें। और एक ऐसी जगह पर रखें जहां पर सीधे इस पर धूप न पड़े और न ही यह बारिश में भीग पाए।

यह भी पढ़ें : आइए जानते हैं सड़कों पर क्यों बनाई जाती है सफेद और पीले रंग की लाइन

इस तरह रोजाना Used Tea Leaves को पानी से धोने और निचोड़ने के बाद इसमें डालते रहें। इसमें और कुछ करने की जरूरत नही होती है।

यह खुद-ब-खुद डिस्पोज धीरे-धीरे हो जाती है। जब घड़ा भर जाए तो उसे साइड में रहकर किसी दूसरे घड़े में डालना शुरू कर देना चाहिए।

एक डेढ़ महीने बाद पहले घड़े को देखेगे तो उसमें एक सफेद रंग की परत जैसा दिखाई देगा। इस सफेद फंगस की वजह से Tea Leaves की खाद बनने लगती है।

Tea Leaves से खाद बनाने में लगभग 2 से 3 महीने का समय लग जाता है। जब 2 से 3 महीने बाद घड़े को देखा जाता है तो इकट्ठी हुई चाय पत्ती सूख कर लगभग आधी हो जाती है।

फिर इसमें से Tea Leaves निकाल कर घड़े को धूप में सुखाया जा सकता है। चाहे तो इसे मिक्सर में हल्का सा ग्रांड करके इस्तेमाल करें या फिर सीधे मिट्टी में मिला कर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

सीख ( Lesson ) :-

हमें घर से निकलने वाले रोजाना के कचरे के Recycle करने पर विचार करना चाहिए। इससे पर्यावरण को नुकसान कम होगा और रोजाना घर से निकलने वाले घरेलू कचरे का निस्तारण करके  इसको उपयोग में भी लाया जा सकेगा।

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

एंजेलिना जोली ब्रैड पिट से अलग होकर क्यों उससे दूर नहीं जा सकी

ब्रैंजलिना नाम से मशहूर ब्रेंड पिट और एंजेला जोली की ग्लैमरस जोड़ी ने जब अलग होने का फैसला उनके फैंस के लिए एक सदमे...

आइए जानते हैं हमारे Solar System के किस ग्रह को Vacuum Cleaner कहा जाता है

Solar System और ग्रहों की दुनिया अपने आप में बेहद दिलचस्प और अजीब होती है। इसे जितना को समझने की कोशिश की जाती है...

हिमालय की गर्म पानी की धाराओं से निकल रहा है कार्बन डाइऑक्साइड

एक शोध में इस बात का दावा किया गया है कि हिमालय में मौजूद Geothermal spring जियोथर्मल एस्प्रिग (गर्म पानी के सोतों) से बड़ी...

बायो टेररिज्म को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत के पुणे और लखनऊ में BSL-4 लैब बनाई जाएगी

पुणे के बाद अब लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी एंड इनफेक्शन डिजीज के लिए बायोसेफ्टी लैब (BSL-4) की दूसरी...

Sania Mirza के अनुसार अपने हक और सम्मान के लिए हर किसी को बोलना होगा

भारतीय टेनिस स्टार खिलाड़ी Sania Mirza अपने मन के बात रखने के लिए जानी जाती हैं। लैंगिक समानता उनमें से एक एक महत्वपूर्ण मुद्दा...