21 C
Delhi
Saturday, February 27, 2021

आइये जानते है क्या है Cryptocurrency? यह कैसे करती है काम, इसके फायदे और नुकशान

Must read

ओटीटी (OTT) प्लेटफॉर्म क्या है और यह डिजिटल मीडिया पर क्यों धूम मचा रहा है?

आज से कुछ साल पहले लोगों को कई सारे काम करने के लिए घर से बाहर जाना होता था। किंतु आज के इंटरनेट के...

पीएम किसान सम्मान : RTI से पता चला 20 लाख से अधिक अपात्र लोगों को भेज दी गई करोड़ों की धनराशि

लोकसभा चुनाव के ठीक मोदी - 2 सरकार द्वारा घोषणा की गई थी कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पीएम किसान सम्मान को लागू...

अफ्रीका का यह राजा हर साल शादी करता है और जी रहा आराम की जिंदगी

दुनिया के अधिकांश देशों से राजशाही व्यवस्था को सालो पहले से खत्म कर दिया गया है। लेकिन अफ्रीका में आज भी एक ऐसा देश...

आइए जानते हैं टीवी चैनल्स के आमदनी का जरिया टीआरपी(TRP) के बारे में

आज कल हम अक्सर यह सुनते हैं कि टीवी चैनल की टीआरपी बढ़ रही है या फिर घट रही हैं। दरअसल टीवी चैनल की...

Cryptocurrency ( क्रिप्टो करेंसी ) क्या होती है ? इसका क्या प्रयोग है ? आज हर कोई इस बात को जाने के लिए उत्सुक है। क्रिप्टो करेंसी (cryptocurrency) बहुत ही कम समय में फाइनेंस मार्केट में अपनी जगह मजबूत कर ली है।

दरअसल क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल करेंसी (Digitalcurrency) है। इसे डिजिटल मुद्रा भी कह सकते हैं। क्योंकि यह ऑनलाइन उपलब्ध होती है।

इसमें किसी भी प्रकार का फिजिकली लेन देन नहीं होता है यानी जिस तरह से हम अन्य दूसरी करेंसी (currency) जैसे कि रुपया, डॉलर आदि को देख या छू सकते हैं क्रिप्टो करेंसी को हम छू (touch) नहीं सकते हैं।

यह एक Virtual currency (वर्चुअल करेंसी ) होती है। अन्य करेंसी को जहां दुनिया भर की सरकारें मान्यता देती है वही क्रिप्टो करेंसी में सरकार का कोई रोल नही होता है।

यह डिसेंट्रलाइज (Decentralige) करेंसी होती है। इसके ऊपर किसी भी बोर्ड एजेंसी यह सरकार का अधिकार नहीं होता है। इसलिए इसे रेगुलेट (Regulate) भी नहीं किया जा सकता है।

हाल के दिनों में क्रिप्टो करेंसी लोगों के लिए चर्चा का विषय बन गई है। हर कोई क्रिप्टो करेंसी क्या होती है जाने के लिए उत्सुक है?

क्या है Cryptocurrency ?

( what Is Cryptocurrency In Hindi) :-

क्रिप्टो करेंसी को वर्चुअल करेंसी यार डिजिटल करेंसी के नाम से भी जाना जाता है। यह एक digital aset की तरह होती है जिससे हम ऑनलाइन कोई भी चीज खरीद सकते हैं।

इसमें peer to peer इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के माध्यम से लेनदेन होता है। अन्य दूसरी करेंसी की तरह ही हम इस करेंसी से भी इंटरनेट के जरिए goods और services को खरीद सकते हैं।

इस व्यवस्था में सरकार या फिर बैंक को बताना जरूरी नहीं होता है। इसलिए बहुत से लोगों का मानना है कि क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल गलत तरीके से होता है।

digital currency

आज के डिजिटल दौर में कई तरह की क्रिप्टोकरंसी उपलब्ध हो गई है। सबसे पहले क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन (Bitcoin) को कहा जाता है।

आज हजार से भी ज्यादा क्रिप्टोकरंसी पूरी दुनिया में मौजूद है। लेकिन हम यहाँ कुछ की करेंसी के बारे में हम जानते हैं।

बिटकॉइन एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जो सबसे पहले लोगों के बीच लोकप्रिय हुई और इसे सबसे ज्यादा इस्तेमाल में भी लाया जाता है। बिटकॉइन की तरह ही अन्य कई currency इन दिनों प्रचलन में हैं जिनके वैल्यू दिन-ब-दिन बढ़ रहे हैं।

Cryptocurency के प्रकार ( Types Of Cryptocurency In Hindi ) :-

आज कई सारी क्रिप्टो करेंसी ऑनलाइन उपलब्ध हो गई है जिनके माध्यम से ऑनलाइन लेनदेन हो रहा है। आज हम सारी तो नहीं लेकिन कुछ क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानेंगे-

बिट कॉइन (Bitcoin) –

बिटकॉइन को दुनिया की पहली क्रिप्टो करेंसी के तौर पर जाना जाता है। इसे साल 2009 में Satoshi Nakamoto नाम के इंजीनियर द्वारा invent किया गया था।इसे ऑनलाइन गुड्स और सर्विस खरीदने और बेचने के लिए बनाया गया था।

यह एक डिसेंट्रलाइज करेंसी है जिसका अर्थ है इस पर किसी भी देश की सरकार या यह संस्था का नियंत्रण नहीं है। शुरुआत में बिटकॉइन का मूल्य बहुत कम था। लेकिन आज बिटकॉइन का मूल्य लाखों में हो गया है।

एथेरियम ( Ethereum ) :-

बिटकॉइन की तरह Ethereum भी एक open source डिसेंट्रलाइज करंसी है। इसके फाउंडर Vitalik Buterin है।

इस क्रिप्टोकरेंसी को Ether के नाम से भी जाना जाता है। इसका इस्तेमाल डिजिटल टोकन बनाने के लिए किया गया था। हाल में ही इसे दो हिस्सों में विभाजित कर दिया गया है।

लाइटकॉइन (Litecoin ) :-

Litecoin भी एक डिजिटल करेंसी है। जिसे अक्टूबर 2011 में Charles Lee द्वारा इन्वेंट किया गया था। यह एक गूगल एंप्लॉय भी रह चुके हैं।

इससे बनाने के पीछे बिटकॉइन का भी रोल है। क्योंकि इसके बहुत सारे फीचर्स बिटकॉइन से मिलते हैं। इसमें किया गया ट्रांजैक्शन बहुत फास्ट है।

दोजेकॉइन (Dogecoin ) : –

dogecoin भी एक डिजिटल करेंसी है जिसका फाउंडर Billy Markus है। उन्होंने इसे मजाक के तौर पर बनाया था। खास बात यह है कि इसमें बिटकॉइन को मजाक के लिए एक कुत्ते से तुलना की गई थी। बाद में यह इस करेंसी का लोगों बन जाता है।

Crypyocurency का काम  ( Work of Cryptocurrency In Hindi) :-

अन्य दूसरी करेंसी की तरह ही डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल भी सेवाओं की खरीद और बिक्री के लिए किया जाता है। बस अंतर यह है कि क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन सेवाओं को खरीदने में होता है।

यह भी पढ़ें :- सोने और चांदी से भी ज्यादा कीमती क्यों होता है व्हेल मछली की उल्टी

क्रिप्टो करेंसी को लोग assets की दृष्टि से भी देखते हैं। क्योंकि इस पर किसी संस्था या सरकार का नियंत्रण नहीं होता है। क्रिप्टो करेंसी इन दिनों एक डिजिटल ऐसेट के रूप में तेजी से प्रचलित हो गई है। लोग रातों-रात धनवान होने के लिए क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने लगे हैं।

Cryptocurrency के फायदे और नुकसान

( Advantages and disadvantages of Cryptocurrency In Hindi) :-

  • क्रिप्टोकरंसी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें फ्रॉड होने का चांस बहुत ही कम होता है।
  • इसे नॉर्मल डिजिटल पेमेंट की तरह आसानी से सुरक्षित रहा जा सकता रखा जा सकता है।
  • इसमें ट्रांजैक्शन फीस बहुत ही कम है और पेमेंट के कई सारे ऑप्शन से हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी का नुकसान यह है कि यदि यूजर की आईडी खो जाता है या फिर पासवर्ड खो जाता है तब इसे दोबारा से प्राप्त करना असंभव है।
  • ऐसे में यूज़र के पास जितनी भी करेंसी होती है वह सब खो जाती है उसे रिकवर नहीं किया जा सकता है।
  • क्योंकि इस पर किसी संस्था या सरकार का कंट्रोल नहीं है जो इस बात की जिम्मेदारी ले सके

 

- Advertisement -corhaz 3

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

ओटीटी (OTT) प्लेटफॉर्म क्या है और यह डिजिटल मीडिया पर क्यों धूम मचा रहा है?

आज से कुछ साल पहले लोगों को कई सारे काम करने के लिए घर से बाहर जाना होता था। किंतु आज के इंटरनेट के...

पीएम किसान सम्मान : RTI से पता चला 20 लाख से अधिक अपात्र लोगों को भेज दी गई करोड़ों की धनराशि

लोकसभा चुनाव के ठीक मोदी - 2 सरकार द्वारा घोषणा की गई थी कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पीएम किसान सम्मान को लागू...

अफ्रीका का यह राजा हर साल शादी करता है और जी रहा आराम की जिंदगी

दुनिया के अधिकांश देशों से राजशाही व्यवस्था को सालो पहले से खत्म कर दिया गया है। लेकिन अफ्रीका में आज भी एक ऐसा देश...

आइए जानते हैं टीवी चैनल्स के आमदनी का जरिया टीआरपी(TRP) के बारे में

आज कल हम अक्सर यह सुनते हैं कि टीवी चैनल की टीआरपी बढ़ रही है या फिर घट रही हैं। दरअसल टीवी चैनल की...

कोरोना काल में लोगों में बढ़ा मोटापा, आर्थिक चिंता और भावनात्मक तनाव से भी हैं लोग परेशान

कोरोना वायरस महामारी पर काबू पाने के लिए दुनिया भर के कई देशों ने लॉकडाउन के विकल्पों को अपनाया था। अब इसके संबंध में...