व्हाट्सएप ( WhatsApp ) चलाते समय इन गलतियों को बिल्कुल भी न करें

व्हाट्सएप ( WhatsApp ) चलाते समय उन गलतियों को बिल्कुल भी न करें

व्हाट्सएप ( WhatsApp ) चलाते समय उन गलतियों को बिल्कुल भी न करें

व्हाट्सएप ( WhatsApp ) आज हर किसी की जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है। यह कम्युनिकेशन का एक बेहतरीन माध्यम है। लेकिन इसको ले कर ज्यादातर लोग लापरवाह होते जा रहे हैं।

बहुत से ऐसे छोटी-छोटी बातें हैं जिन्हें WhatsApp से इस्तेमाल करने के दौरान लोग जाने अनजाने इग्नोर कर देते हैंम लेकिन कई बार जाने अनजाने में की जाने वाली यह गलतियां परेशानी भी खड़ी कर देते हैं।

आज हम जाने से कुछ टिप्स और ट्रिक्स के बारे में जिन्हें WhatsApp चलाने वालों को जानना बेहद जरूरी है जिससे आप अधिक सुरक्षित तरीके से व्हाट्सएप चला सकेंगे।

टच आईडी और फेस आईडी लॉक :-

WhatsApp को चलाने के लिए सबसे सुरक्षित पहली शर्त यह है कि यह सुरक्षित ढंग से चलाया जाए। मतलब गैर आधिकारिक व्यक्ति आपके व्हाट्सएप न खोल सके इसलिए अपने सुरक्षा को बनाए रखने के लिए आईओएस के लिए टच आईडी या फेस आईडी और एंड्रॉयड के लिए फिंगरप्रिंट सिक्योरिटी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

खास बात यह है कि WhatsApp को लॉक करने का इरादा कर रहे हो तब आप इससे बाहर आ सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको व्हाट्सएप की सेटिंग में जाकर प्राइवेसी और फिर स्क्रीन लॉक पर जाना होगा। यहां सेटिंग से फिंगरप्रिंट लॉक को एक्टिव किया जा सकता है।

फोटो गैलरी : –

अक्सर फैमिली मेंबर्स या फ्रेंड्स WhatsApp ग्रुप में कई संदेशों के साथ कई तरह के वीडियो और फोटो को शेयर किया जाता है। यह सब फोन के लोकल स्टोरेज में अपने आप सेव हो जाते हैं। इन वीडियो को भले ही देखा जाए या न देखा जाए लेकिन फोन के स्टोरेज कवर कर लेते हैं।

जिसकी वजह से कई बार फोन स्लो चलने लगता है। इस तरह की समस्या से बचने के लिए WhatsApp की सेटिंग में जाकर स्टोरेज एंड डेटा के तहत उपलब्ध विकल्प का चयन कर सकते हैं। जिसके बाद फोन पर बेवजह के फोटो और वीडियो डाउनलोड नहीं होंगी।

मैसेज शेयर करने से बचें :-

मैसेज स्टेटस निजी जिंदगी से जुड़े होते हैं। इन्हें अपने परिवार, मित्रों और करीबियों को ही शेयर करना चाहिए। अपने स्टेटस मैसेज को अनावश्यक लोगों से बचाने के लिए इसके लिए प्राइवेसी सेटिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप अपने कांटेक्ट लिस्ट में जाएं और उन लोगों का चुनाव करें जिन्हें आप भविष्य में अपने स्टेटस को दिखाना चाहते हैं।

 फेक न्यूज़ से दूरी :-

आमतौर पर फेक न्यूज़ फैलाने का सबसे बड़ा जरिया WhatsApp माना जाता है। हालांकि व्हाट्सएप इस दिशा में लगातार काम कर रहा है। लेकिन एक यूजर के तौर पर अगर आप व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो कोशिश करें फेक न्यूज़ को फॉरवर्ड न करें।

अगर कोई भी फेक जानकारी आपके पास आती है तो इसे फॉरवर्ड करने से पहले उसकी प्रमाणिकता की जांच कर लें और जब वह सही हो तभी अन्य लोगों के साथ शेयर करें।

मालूम हो कि पुलिस के पास WhatsApp  चैट के जरिए यह जानकारी जुटाने का अधिकार है कि क्या आपने हिंसा भड़काने के लिए फेक न्यूज़ को शेयर करने में कोई भूमिका निभाई है या नहीं।

अगर आप परेशानी में नहीं पड़ना चाहते हैं तो बेहतर यही है कि संवेदनशील मुद्दों पर अप्रमाणित खबरों और अफवाहों को WhatsApp पर फॉरवर्ड न करें।

यह भी पढ़ें :–  ATM Card की नहीं होगी, जरूरत UPI App से क्यूआर कोड (QR Code) स्कैन करके निकाले पैसा