बहन की जान बचाने के लिए एक महिला मगरमच्छ से भिड़ गई

क्या आप मगरमच्छ से भिड़ सकते है। अगर मगरमच्छ आप पर हमला कर दे या आप के किसी प्रियजन पर ही हमला कर दे तो उस स्थिति में आप क्या करोगे, स्वाभाविक है को आप बहुत डर जाओगे।

लेकिन मैक्सिको में एक महिला ने अपनी बहन की जान बचाने के लये मगरमच्छ से ही भिड़ गए और अपनी बहन को मगरमच्छ का शिकार होने से बचा लिया। वाकई भी इस तरह के काम को अंजाम देने के लिए बहुत हिम्मत की जरूरत होती है। आइये जानते है पूरी घटना के बारे में बिस्तर से –

मेक्सिको के एक लैगून में मेलिसा और जॉर्जिया लॉरी एक दिन तैराकी का मूड बनाती है। लेकिन उस समय भयावह हो गई जब एक मगरमच्छ ने 28 वर्षीय महिला पर हमला किया।

हालाँकि, जब जॉर्जिया को पता चला कि मगरमच्छ उसकी बहन को पानी के भीतर खींचने की कोशिश कर रहा है, तो उसने अपने डर पर काबू पा लिया और वह मगरमच्छ से भिड़ गए और मगरमच्छ के चेहरे पर मुक्का मारना शुरू कर दिया। और अपनी बहादुरी से अपनी बहन मेलिसा की जान बचाई।

हुआ यह कि एक दिन तैरने के दौरान, जॉर्जिया यह देखकर चौंक गई कि उसकी बहन मेलिसा अचानक पानी के भीतर गायब हो गई। बाद में उसने देखा कि एक मगरमच्छ उसकी बहन को घसीट रहा था और उसे डूबाने की कोशिश कर रहा था।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, वे प्यूर्टो एस्कॉन्डिडो के पास एक लैगून में थे, जब यह घटना हुई थी। जार्जिया की बहन हाना ने समाचार वेबसाइट को बताया “जॉर्जिया ने उसे डूबते पाया और उसे एक नाव के पास में वापस खींचना शुरू कर दिया,”

“वह उसे वापस घसीट ले गई क्योंकि मगरमच्छ फिर से वापस आ रहा था – इसलिए उसने उसे मारना शुरू कर दिया। लेकिन सौभाग्य से उसकी जुड़वां बहन वहाँ मौजूद थी और मगरमच्छ के मोह पर बार-बार तेज मुक्का मार रही थी।” हाना ने बताया कि मगरमच्छ लगभग तीन बार वापस आया था।

समाचार वेबसाइट के अनुसार, ब्रिटिश महिलाएं इस समय कोमा में डॉक्टरों की निगरानी में हैं क्योंकि डॉक्टर किसी भी संक्रमण के बारे में चिंतित हैं जो उन्होंने पानी में तैर रहे कीड़ों और मगरमच्छ के मुंह और दांतों से पकड़ने के दौरान हुए।

हाना ने कहा, “जॉर्जिया और मेलिसा दोनों को एंटीबायोटिक दवाओं की भारी खुराक दी जा रहा हैं, इसलिए हम यह उम्मीद कर रहे हैं कि यदि कोई संक्रमण विकसित होता है तो वे इसे वास्तव में जल्दी ठीक कर पाएंगे।”

समाचार वेबसाइट को घटना के बारे में बताते हुए, हाना ने साझा किया कि जॉर्जिया एक अनुभवी गोताखोर थी, लेकिन मगरमच्छ के साथ मुठभेड़ ने उसे बेहद डरा दिया है ।

उसने बताया कि “भगवान का शुक्र है, उसने वह प्रशिक्षण लिया है। उसने कहा कि उसके एड्रेनालाईन में लात मारी और वह जानती थी कि उसे क्या करना है,”

डेलीमेल की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में, उनका परिवार मेक्सिको में ब्रिटिश दूतावास के संपर्क में है और यह तय करने के लिए बातचीत कर रहा है कि बहनों को बर्कशायर में उनके घर वापस कब लाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :–

क्या आप जानते हैं आखिर फ्लाइट स्टाफ में महिलाओं को ही ज्यादातर क्यों रखा जाता है